12 वर्ष के बच्चे ने मंगलसूत्र व चूड़ी पहनकर किया ये काम, पुलिस को है टिकटॉक का शक, जानिए पूरा मामला..!

राजस्थान के कोटा में एक 12 वर्ष के बच्चे ने खुद को फांसी लगा ली। फंदा लगाते वक्त उसने हाथ में चूड़ियां पहनी हुई थीं। गले में मंगल सूत्र भी था उसके। पुलिस को शक है कि बच्चे ने मोबाइल ऐप टिक टॉक के असर में खुद की जान ली है।
loading...
कोटा में एक कॉलोनी है- विज्ञान नगर यहीं रहता था कुशल सिंधी. छठी क्लास में पढ़ता था। 17 जून की रात को वो सोने के लिए अपने कमरे में गया। लेकिन अगली सुबह जब वो नहीं उठा तो घरवालों को चिंता हुई। वो अपने बिस्तर पर नहीं मिला। उसके कमरे के पास एक बाथरूम था। उसी के अंदर दरवाजे का सहारा लेकर कुशल लटका हुआ था। उसकी गरदन में लोहे की जंजीर लिपटी हुई थी। परिवार के लोग उसे फटाफट अस्पताल ले गए तो डॉक्टरों ने बताया की उसकी मृत्यु हो चुकी है।

स्थानीय थाने के प्रभारी मुमिंद्रा सिंह ने इस घटना के बारे में बताते हुए कहा-
शुरुआती जांच से मालूम होता है कि बच्चे ने शायद गलती से खुद की जान ले ली है। वो शायद टिक टॉक पर एक वीडियो बनाने की तैयारी कर रहा था। कुछ गड़बड़ हुई और वो मर गया। पुलिस को फिलहाल ये लग रहा है कि कुशल या तो किसी मोबाइल गेम का टास्क पूरा काम कर रहा था। या फिर वो टिक टॉक पर कोई वीडियो बना रहा था। ऑटोप्सी रिपोर्ट के बाद चीजें अधिक स्पष्ट हो सकेंगी। वैसे कोटा के ASP राजेश मिल का कहना है कि अभी कुछ भी पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता है।
कुशल के घर वालों का कहना है कि उसको वीडियो गेम्स का बहुत चस्का था। उसने टिक टॉक भी डाउनलोड किया हुआ था। कुशल के पिता ने बताया है कि जिस रात कुशल की मृत्यु हुई। उस को रात वो बहुत देर तक जगा हुआ था। वो अपने मोबाइल पर गेम खेलने में लगा हुआ था। परिवार को लगता है कि टिक टॉक के ही चक्कर में उन्होंने अपना बच्चा खो दिया है। वैसे मोबाइल गेम के चक्कर में मौतों की कुछ खबरें पहले भी आ चुकी हैं। लोग गेम के टारगेट्स, इसका टास्क पूरा करने के लिए अजीबोगरीब चीजें भी कर जाते हैं। बच्चे अधिक वलनरेबल होते हैं ऐसी चीजों के लिए।

टिक टॉक एक मोबाइल वीडियो ऐप है इसमें यूजर अपने छोटे-छोटे विडियो बनाते हैं। उन विडियोज़ में स्पेशल इफेक्ट का पुट भी होता है। इंडिया में तीन करोड़ से भी अधिक लोग इसे इन्स्टॉल कर चुके हैं। कुछ दिनों पहले इंडिया की एक अदालत ने इस पर बैन लगा दिया था। आरोप था कि ये ऐप पॉर्नोग्रफी को बढ़ावा दे रही है। परन्तु बाद में इसे हटा भी दिया गया।