सोशल मीडिया पर इस दरोगा की हो रही जमकर तारीफ, जानिए क्या है इसका वजह

वैसे तो यूपी की पुलिस अपनी खराब छवि को लेकर अक्सर खबरों का हिस्सा बनी रहती हैं। लेकिन इस बीच कई ऐसे पुलिसकर्मी भी हैं जो इस सबसे हटकर मानवता की मिसाल को पेश करते हैं।ऐसे ही पुलिसकर्मियों की ही वजह से जनता आज पुलिस पर विश्वास करती हैं।
loading...
वैसे तो यूपी की पुलिस अपनी खराब छवि को लेकर अक्सर खबरों का हिस्सा बनी रहती हैं।लेकिन इस बीच कई ऐसे पुलिसकर्मी भी हैं।जो इस सबसे हटकर मानवता की मिसाल को पेश करते हैं। ऐसे ही पुलिसकर्मियों की ही वजह से जनता आज पुलिस पर विश्वास करती हैं।कुछ कर्मी ना सिर्फ लोगों को अपनी ड्यूटी निभाते हैं। 
बल्कि उससे ऊपर उठकर लोगों की मदद करते हुए दिखाई देते हैं। जिनकी सराहना किया जाना अत्यधिक जरूरी हैं।ये अन्य पुलिसकर्मियों के लिए मिसाल बन जाते हैं। जो आम जनता को इंसाफ दिलाना तो दूर उनके साथ ही बदसलूकी करते नजर आते हैं।ऐसे ही एक पुलिसकर्मी की खबरे यूपी से सामने आई हैं।जिसके काम के बाद उसकी सोशल मीडिया पर काफी तारीफें हो रही हैं।
ये खबर कुशीनगर के थाना बिशनपुरा के गांव की हैं। लगातार हो रही भारी बारिश ने लोगों के जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया हैं। कई जगहों पर तो बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं।यूपी के लोग भी भारी बारिश के चलते काफी परेशान हैं।जनपद कुशीनगर के थाना बिशनपुरा में पिछले कई दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही हैं। 
जिस वजह से शनिवार को थाना क्षेत्र के गोडरिया में नहर की पटरी टूट गई जिसके कारण लोगों को काफी परेशानी हो रही थी। पानी का रिसाव और बहाव को देखकर ग्रामीणों ने इसकी सूचना गंडक विभाग के अधिकारियों को दी लेकिन उनकी मदद करने वहां कोई नहीं पहुंचा।
ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय विशुनपुरा थाने को दी गई।जिसके बाद थानाध्यक्ष ने तत्काल मौके पर उपनिरीक्षक अर्जुन तिवारी के साथ फोर्स भेजी। उपनिरीक्षक अर्जुन जेसीबी की सहायता से वहां खुद ही टूटी हुई पटरी की मरम्मत करने लगे।जब गांव का कोई भी व्यक्ति उनकी सहायता के लिए वहां नहीं आया, तो उन्होंने खुद ही कुदाल उठा लिया। 
कुदाल और टोकरी से गड्ढे में मिट्टी डालने का काम करने लगे। उपनिरीक्षक के साथ आए पुलिसकर्मियों ने भी उनका साथ नहीं बटाया बल्कि वहां खड़े सिर्फ उनका मुंह देखते रहे।इसके बाद दरोगा को काम करते देख कुछ लोग उनका साथ देने के लिए आगे बढ़े। देर शाम तक सबकी सहायता से टूटी पटरी की मरम्मत के काम को पूरा कर लिया गया।
दरोगा के इस सराहनीय काम की हर तरफ सराहना हो रही है।ना सिर्फ वहां रहने वाले लोग बल्कि सोशल मीडिया पर भी दरोगा की जमकर तारीफ हो रही है। गांव के रहने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि पहले हमनें सोचा से सरकारी काम है, सरकारी कर्मचारी खुद आकर इस काम को करेंगे लेकिन जब दरोगा ने इसकी मरम्मत करना शुरू किया तो गांव के लोगों ने भी उनका साथ दिया।