पुलिसवाली बनने के लिए इस लड़की ने चली ऐसी चाल, सच्चाई जान अधिकारियों के भी उड़ गए होश..!

उत्तर प्रदेश के मेरठ से एक बहुत ही परेशानी भरा विषय सामने आया है यहां परीक्षा में फेल हो जाने के बावजूद भी एक लड़की को पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनिंग लेते हुए गिरफ्तार किया गया है। लड़की के पास से आइडेंटी कार्ड, कैप, बेल्ट और अन्य सामान भी मिला है।

loading...
बताया जा रहा है कि इससे पहले लखीमपुर खीरी और बरेली में भी फर्जी तरीके से ट्रेनिंग लेने का प्रयास कर चुकी है फिलहाल युवती के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया और उसे जेल भेज दिया गया। जानकारी के अनुसार मेरठ पुलिस सेंटर में सोमवार की रात गिनती के दौरान 401 महिला प्रशिक्षु की जगह 402 स्त्री प्रशिक्षु मिली।

अधिकारियों को लगा कि शायद गिनती में कोई गड़बड़ी हुई है इस वजह से दोबारा गणना की गई लेकिन इस बार भी 402 महिला प्रशिक्षु मिली। जांच करने पर पता चला कि बिजनौर की रहने वाली प्रीति फर्जी तरीके से वहां प्रशिक्षण ले रही है जबकि वह एग्जाम में फेल हो चुकी है। इस पर उसे गिरफ्तार करके उसके खिलाफ थाना खरखौदा में मुकदमा दाखिल कराया गया।

सीओ किठौर आलोक सिंह ने बताया कि बिजनौर की प्रीति नामक दो लड़कियां परीक्षा में आई थी। जिसमें प्रीति पुत्री रोहतास ने एग्जाम को क्वालीफाई कर लिया था जबकि प्रीति पुत्री राजकुमार असफल रह गई थी। असफल होने के बावजूद प्रीति ने पुलिस लाइन लखीमपुर खीरी में अपनी आमद सफल कैंडिडेट के रूप में ट्रेनिंग करवाई थी।

बाद में जब पता चला कि इसका नाम लिस्ट में नहीं है तो इसे वापस घर भेज दिया गया लेकिन उस पर सिपाही बनने का जुनून इस कदर सवार था कि वह लखीमपुर खीरी में आई और सफल कैंडिडेट की बस में बैठकर चुपचाप ट्रेनिंग के लिए बरेली कूच कर गई। पकड़ में आने पर उसके परिजनों को बरेली बुलाया गया और उनके साथ घर भेज दिया गया।

इसके बाद 14 जून को प्रीति दोबारा लखीमपुर खीरी ट्रेनिंग के लिए पहुंची और बोली कि उसके कागजात आने वाले हैं किन्तु इस बार भी उसे कामयाबी नहीं मिल पाई। सीओ ने बताया कि इसके बाद प्रीति मेरठ पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पहुंची और उसने यहां अपनी आमद दर्ज करा दी। पूछताछ के दौरान उसने अपना नाम प्रीति पुत्री रोहतास बताया जबकि जांच में पता चला कि प्रीति पुत्री रोहतास इन दिनों रायबरेली में ट्रेनिंग की तैयारी कर रही है।