दिन दहाड़े लड़के के हाथ काटे, गाड़ी चढ़ाकर मारने का भी किया प्रयास, जानिए क्या है मामला

जैसलमेर मुख्यालय स्थित इंदिरा कॉलोनी में सोमवार दिन दहाड़े बोलेरो में सवार होकर आए लोगों ने तलवार के वार से लड़के के हाथ काट दिए,जिससे पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई।आसपास मौजूद लोग डाबला निवासी सुरेश सैन पुत्र भूराराम सैन को उपथित चिकित्सालय लेकर पहुंचे।
loading...
जहां प्राथमिक इलाज के बाद चिकित्सकों ने उसे जोधपुर रैफर कर दिया।मामले की सूचना मिलने के बाद कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और बाद में अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में घायल सुरेश से पुलिस ने बयान लिए।जिसमें उसने हमले और हमलावरों के बारे में जानकारी दी।शाम तक पुलिस किसी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी और उनकी तलाश में दबिशें लागू थीं।

पुराने झगड़े की परिणति

जवाहर चिकित्सालय से जोधपुर ले जाते वक्त जख्मी सुरेश सैन ने पत्रकारों को बताया कि चार-पांच दिन पहले किसी बात को लेकर उसका झगड़ा हुआ था।सोमवार को श्यामसिंह,राजूसिंह,पूनमसिंह,अखेराजसिंह निवासी बडोड़ा गांव आदि बोलेरो में सवार होकर आए और उस पर तलवार से प्रहार कर दिया।उसने बताया कि अखेराजसिंह ने बाद में उस पर गाड़ी चढ़ानी चाही लेकिन किसी के बीच में आने से वह ऐसा नहीं कर सका।इसके बाद हमलावर वहां से गायब हो गए।गौरतलब है कि हथियार के वार से सुरेश का एक हाथ तो लगभग पूरा कट गया जबकि दूसरा हाथ भी गंभीर रूप से जख्मी हुआ हैं।

पुलिस टीमें गठित की
मामले की गंभीरता के मद्देनजर जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार आरोपियों की धरपकड़ के लिए तीन-चार टीमों का गठन किया गया हैं।उपअधीक्षक के नेतृत्व में टीमें जगह-जगह दबिशें दे रही हैं।शहर कोतवाल किशनसिंह चारण ने बताया कि अभी तक किसी को दस्तयाब नहीं किया जा सका हैं।पुलिस ने यह मामला भादसं की धारा 304 और अन्य धाराओं में दर्ज किया हैं।इधर हाथ काटने की इस हादसे की चर्चा सोमवार शाम से शांत माने जाने वाले जैसलमेर में हर कहीं होती नजर आई।लोगों के अनुसार इस प्रकार की घटना से प्रतीत होता है कि जैसलमेर के शांत वातावरण को अब समाजकंटकों की नजर लग रही हैं।