दो रोटी कम मिली तो नौकर ने किया मालकिन का ये हाल, बोला ‘मेरे हिस्से की रोटी कुत्ते को देती थी’

कहते हैं व्यक्ति को जीवन में तीन बेसिक चीज रोटी,कपड़ा और मकान की आवश्कता होती हैं।लेकिन इसमें से भी रोटी एक ऐसी चीज हैं जो सभी को हर हाल में चाहिए होती हैं। लेकिन क्या एक रोटी के लिए कोई किसी की जान भी ले सकता हैं?यक़ीनन ये बात सुनने में थोड़ी अजीब लगे लेकिन ऐसा हरियाणा के यमुनानगर में देखने को मिला हैं। 
loading...
यहाँ एक घर में नौकर ने अपनी मालकिन की कत्ल सिर्फ इसलिए कर दी क्योंकि वो उसे खाने के लिए दो रोटी कम देती थीं।दरअसल राजेश नाम का नौकर दीपांशु नाम के व्यक्ति के यहाँ सालो से नौकर का काम किया करता था। दीपांशु एक स्टोन क्रशर संचालक हैं।नौकर राजेश ने बताया कि जब दीपांशु की विवाह नहीं हुई थी तो वो ही उनके लिए खाना बनाने का काम किया करता था लेकिन फिर उनकी विवाह रोजी नाम की स्त्री से हो गई।
रोजी ने घर में आते ही नौकर को रसोई से हटा दिया।उसे खाना बनवाने की वजह वो राजेश से बर्तन और कपड़े धुलवाने लगी।राजेश को ये बात रास ना आई।राजेश बताता हैं कि उसकी भूख 7 रोटी की होती हैं लेकिन मालकिन मुझे सिर्फ 5 रोटी ही दिया करती थीं।मैंने उन्हें कई बार कहा कि मेरी भूख इतनी रोटियों से नहीं भारती हैं।मुझे और रोटी चाहिए लेकिन वो एक्स्ट्रा रोटी नहीं देती थीं।फिर बीते मार्च जब मेरे पिताजी की मरी  हो गई तो मैं बिहार गया था। लेकिन जब वहां से वापस आया तो मुझे अपने हिस्से की रोटी में से एक कुत्ते को भी देना पड़ता था।राजेश ने ये भी बताया कि पिता के मृत्यु के वक्त उसने मालकिन से 30 हजार रुपए मांगे थे लेकिन उन्होंने देने से मना कर दिया। इस पर भी उसे बहुत गुस्सा आया था।
बीते गुरुवार जब राजेश को बहुत जोरो की भूख लगी तो उसने मालकिन से खाना माँगा।लेकिन रोजी ने कहा कि पति दीपांशु के आने के बाद ही खाना बनेगा।इस बात से राजेश को इतना गुस्सा आया कि वो रसोई में गया और उसने चाक़ू हाथ में ले लिया।फिर रोजी के कमरे में जाकर बिस्तर पर ही उसका गला काट दिया।राजेश मालकिन के गले पर करीब 5 मिनट तक वार करता रहा।इस दौरान रोजी ने बचाव में राजेश के हाथों पर डांट से काटा भी था लेकिन कुछ लाभ ना हुआ।फिर राजेश ने खून से सना चाकू साफ़ कर वापस किचन में रख दिया।उसने बाथरूम में जाकर कपड़ो पर से रक्त के दाग भी साफ़ किये।
नौकर राजेश का कहना हैं कि वो घर से इसलिए नहीं भागा क्योंकि उसे डर था की सभी को मालकिन की कत्ल का सन्देह हो जाएगा।इसलिए वो चुपचाप अपने कमरे में ही रहा और मालिक दीपांशु को फोन कर बताया कि मालकिन कमरे का दरवाजा नहीं खोल रही हैं।फिर बाद में जब पुलिस आई तो राजेश के हाथ पर रोजी के दांतों के निशान मिले।इसके अतिरिक उसकी बाथरूम में भी रक्त के धब्बे दिखाई दिए।इस तरह पुलिस ने नौकर को धर दबोचा। फिलहाल पुलिस इस पुरे मामले की और जांच कर सबूत एकत्रित कर रही हैं।