रक्षाबंधन के एक दिन पहले ही भाई ने बहन के साथ किया ये काम, जानें क्या है कारण

रक्षाबंधन के एक दिन पूर्व ही एक भाई ने अपनी बहन को चाकुओं से गोद दिया। ऐसा बताया गया कि बहन व उसके पति के बीच समझौते को लेकर भाई-बहन व बहन के ससुराल वाले मंदिर में आए थे। मंदिर पहुंचने के पूर्व ही भाई ने घटना को अंजाम दे दिया। पुलिस ने भाई को गिरफ्तार कर लिया है। गंभीर हालत में बहन को बड़वानी और वहां से इंदौर रेफर किया गया।
loading...
एएसआई सुशील यदुवंशी ने बताया कि दीपिका पिता बलराम निवासी जेल रोड मनावर की शादी टांडा के मंगेश से हुई थी। करीब 8-10 माह से दीपिका मायके में ही रह रही थी। यहां रहते हुए राजा नामक युवक से उसका प्रेम-प्रसंग हो गया। कुछ दिन पूर्व वह अपने प्रेमी के साथ कहीं चली गई थी।
बुधवार को युवक राजा व उसके परिजन दीपिका को उसके मां-बाप को सौंपने के लिए लाए। वहीं उसके पति मंगेश को भी समझौते के लिए बुलाया था। पति मंगेश भी परिजन के साथ आया हुआ था। ये सभी लोग थाने के पास स्थित मंदिर में समझौते को लेकर चर्चा कर रहे थे।
इसी बीच अचानक ही दीपिका का भाई दीपक आया और दीपिका पर चाकू से दो वार कर दिए। दीपिका वहीं गिर गई। दीपक को पुलिस ने तुरंत हिरासत में लेकर दीपिका को अस्पताल पहुंचाया गया। डॉ. सुनील देसाई ने बताया कि गर्दन व पेट पर जख्म पाए गए हैं। युवती की हालत गंभीर होने पर उसे बड़वानी और वहां से इंदौर रेफर किया गया।