ससुराल वालीं से तंग होकर लड़के ने कर दिया ये काम, और उसके बाद जो हुआ जानें

बधनीकलां के गांव कुस्सा में एक नौजवान लड़के ने अपने ससुरालियों से तंग आकर फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक नौजवान प्रसिद्ध समाजसेवी नेता पटवारी कुलवंत सिंह का लड़का था, जिसकी तकरीबन 4 साल पहले शादी हुई थी। पता लगा है कि मृतक हरदीप सिंह का अपने ससुरालियों के साथ झगड़ा चल रहा था तथा उन्होंने मृतक व उसके परिवार के खिलाफ अदालत में केस किया हुआ था, जिस कारण लड़का बहुत परेशान रहता था।
loading...
मृतक लड़के के पिता कुलवंत सिंह ने पुलिस को दिए बयानों में बताया कि उसके लड़के ने नर्सिंग की हुई थी तथा 4 साल पहले गांव निहालुवाला जिला बरनाला की सुखप्रीत कौर पुत्री सुखविन्द्र सिंह के साथ शादी के बाद दोनों ही अस्पताल में नौकरी करने के लिए मोहाली चले गए थे। तकरीबन 6 महीने बाद उसकी बहू वहां कोचिंग करने लग पड़ी, जिसके बाद उन्होंने पी.जी.आई. में अपनी सिलैक्शन के लिए टैस्ट भी दिया, लेकिन वह सिलैक्ट नहीं हुए।
इस उपरांत वह लुधियाना आ गई, जहां मेरी बहू की एक अस्पताल में सिलैक्शन हो गई तथा मेरा लड़का भी लुधियाना में अस्पताल में नौकरी करने लग गया। इस दौरान दोनों के बीच मामूली तकरार हो गई, जिस पर मेरे लड़के का ससुर व उसका एक अन्य रिश्तेदार वहां गए तथा किराए के मकान में रहने का विवाद करते मेरे लड़के को बुरा-भला बोलकर वहां से सामान उठा लाए। साथ ही मेरी बहू को भी अपने गांव ले आए, जिसके बाद उन्होंने हमारे खिलाफ अदालत में केस दायर कर दिया। 
इस कारण लड़के ने परेशान होेकर फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। इस घटना की सूचना मिलते ही सहायक थानेदार नायब सिंह मौके पर पहुंच गए तथा मामले को गंभीरता से लेते मृतक लड़के के पिता कुलवंत सिंह पुत्र नगिन्द्र सिंह निवासी गांव कुस्सा के बयानों पर लड़के के ससुर सुखविन्द्र सिंह निवासी गांव निहालूवाला (बरनाला) तथा अजमेर सिंह पुत्र किशन सिंह निवासी साहिबाजपुरा के खिलाफ धारा 306 के अधीन मामला दर्ज कर लिया है।