सड़क किनारे झाड़ियों में करानी पड़ गई महिला की डिलीवरी, जानिए ऐसा क्यों हुआ

गुरुग्राम के सोहना में पडऩे वाले देवीलाल स्टेडियम की सर्विस रोड पर झाडिय़ों में एक महिला का प्रसव करवाया गया। वहीं महिला के प्रसव की सूचना मिलते ही आस-पास लोगों हैरान रह गए। वहीं इस आपा-धापी में आस-पास की महिलाओं ने फिल्मी स्टाईल में महिला को कपड़ों-चादरों आदि से परदा कर महिला की डिलीवरी करवाई। प्रसव के बाद नजदीक के निजी अस्पताल में प्रसूता व उसके शिशु को भर्ती करवाया गया है, जहां उनकी हालत सामान्य है।
loading...
अब बताते हैं कि इसके पीछे आखिर क्या कारण था कि एक प्रसूता की डिलीवरी अस्पताल में न कराकर सड़क किनारे करनी पड़ी। दरअसल, पीड़िता महिला रविना पत्नी शेकुल गांव खेड़ा खलील पुर की रहने वाली है। जो सुबह प्रसव के लिए सोहना के नागरिक अस्पताल पहुंची तो डॉक्टर ने प्रसव नहीं होने की बात कहते हुए पीड़िता को अल्ट्रासाउंड कराने के लिए लिख दिया। 
नागरिक अस्पताल में तैनात डॉक्टरों ने महिला का ऑपरेशन किये जाने की बात कहते हुए महिला को गुरुग्राम के लिए रैफर कर दिया। प्रसव के दर्द से पीड़ित महिला जब अल्ट्रासाउंड कराने के लिए देवीलाल स्टेडियम के सामने लैब पर पहुंची तो उसे शौच का प्रेशर पड़ा। महिला अपनी सास के साथ पास में सर्विस रोड पर झाडिय़ों में जैसे ही शौच के लिए गई, तो वहां महिला के शरीर से प्रसव का प्रोसेस शुरू हो गया। आस-पास महिलाओं ने ये सब देखकर महिला के सामने कपड़ा लगा कर कवर किया, जिसके बाद महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया।
जैसे तैसे नजदीक एक निजी नर्सिंग होम के स्टाफ महिला व बच्चे को स्ट्रेचर में ले गए और उसका उपचार किया। महिला के पिता आजाद ने नागरिक अस्पताल के डॉक्टर पर आरोप लगाए हैं कि हमें डॉक्टर ने डरा दिया था महिला का बच्चा ऊपर आया हुआ है बड़ा ऑपरेशन होगा। फिलहाल जच्चा व बच्चा दोनों एक निजी हस्पताल में उपचाराधीन हैं। अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि कि हमें जैसे ही पता चला कि महिला को सर्विस रोड पर प्रसव हो रहा है। हमारी टीम उस महिला और नवजात को स्ट्रेचर पर अस्पताल में ले आए और भर्ती कर इलाज किया जा रहा है।