पहले खाया ये चीज़ और फिर फिर ट्रेन से कटकर दी जान, प्यार करने वालों ने किया दुनिया को अलविदा

दतिया जिले में रेलवे स्टेशन पर एक युवक व युवती ने टे्रन के आगे आकर जान दे दी। दोनों ने पहले जहरीली दवा खाई फिर आत्महत्या की। जीआरपी ने दोनों की उनके बैग में मिले दस्तावेज के आधार पर पहचान कर ली। युवक ग्वालियर का व युवती ग्राम चिरुली की रहने वाली है। दोनों अभी बी कॉम के छात्र थे। उन्होंने खुदकुशी क्यों की यह बात स्पष्ट नहीं हो सकी। सूचना मिलने पर जीआरपी व जिला पुलिस बल मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में ले लिया। जीआरपी ने मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया है।
loading...
जीआरपी के मुताबिक हावड़ा से चलकर ग्वालियर की ओर जाने वाली चंबल एक्सप्रेस के आगे अचानक युवक-युवती आ गए। दोनों की टे्रन से कटकर मौत हो गई। घटना सोमवार शाम करीब पांच बजे की है। दोनों के सिर धड़ से अलग हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक युवक व युवती काफी देर पहले से रेलवे स्टेशन पर चहलकदमी कर रहे थे। कोई नहीं समझ पा रहा था कि आखिर ये क्या करने वाले हैं। घटना के बाद जीआरपी व जिला पुलिस बल मौके पर पहुंचा और नजदीक पड़े बैंग की तलाशी ली तो उनकी पहचान हो सकी। म़त युवती के फोटो पहचान पत्र से उसका नाम अफसाना (21) निवासी चिरूली (ग्वालियर) तथा युवक का नाम उमेश जाटव(22) निवासी नाका चंद्रवदनी ग्वालियर के रूप में हुई।
बताया गया है कि उमेश यूं तो नाका चंद्रवदनी पर रहता है पर उसकी रिश्तेदारी अफसाना के गांव में है। लिहाजा उसका आना जाना रहता तभी इनकी मुलाकात हुई। और करीब दो साल पहले से एक दूसरे से दोस्ती हुई। उमेश और अफसाना दतिया कब और किसलिए आए थे इस बारे में परिजन भी नही बता सके। परिजनों का कहना तो यह था कि दोनो ही अपना बैग लेकर कॉलेज जाने की कहकर निकले थे। और कब दतिया पहुंच गए इस बारे में कोई जानकारी नही है।

रात में दोनों के परिजन पहुंचे
मृतका के परिजनों ने बताया कि वह गांव से ही बस से ग्वालियर अप-डाउन करती है और सुबह नौ बजे घर से कॉलेज की कहकर निकली थी। वहीं उमेश के परिजनों ने बताया कि वह भी कॉलेज की कहकर घर से निकला था। पुलिस इसे लेकर सकते मेंं है कि दोनों दतिया कैसे व क्यों पहुंचे। घटनास्थल के पास से एक रेपर भी मिला है जो जहरीला दवा का है। 
इससे जाहिर हो रहा है कि उन्होंने पहले चूहे मारने वाली दवा खायी। फिर ट्रेन के सामने आकर जान दे दी। जीआरपी ने दोनों शवों को कब्जे में कर लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। सूचना मिलने पर जीआरपी के अलावा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मंजीत सिंह चावला भी मौके पर पहुंचे थे। हालांकि मामला जीआरपी का होने के कारण सारी कार्रवाई रेलवे पुलिस ने ही की।