कुछ और समझ लोगों ने दौड़ाकर पकड़ लिया, और भीड़ ने उसके साथ किया ये काम

मेरठ के मवाना थाना क्षेत्र में में देर रात बेकाबू भीड़ ने काम से लौट रहे एक अधेड़ को चोर समझकर लाठी-डंडों से इतनी बुरी तरह पीटा कि सुबह उसकी मौत हो गई। घटना के बाद मृतक के परिवार वालों ने आधा दर्जन युवकों को को नामजद करते हुए घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई है। उधर, पुलिस ने इस मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लेकर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है।

जानें क्या है ये पूरा मामला
loading...
जानकारी के अनुसार, ढिकौली निवासी 47 वर्षीय रणवीर मवाना शुगर मिल में मजदूरी का काम करता था। बताया जाता है कि शुक्रवार को रणवीर ने ओवरटाइम किया जिसके चलते उसे गांव वापस लौटने में देर हो गई। रात करीब 11 बजे रणवीर शुगर मिल से निकलकर आधा किलोमीटर दूर स्थित अपने गांव वापस जा रहा था। इसी दौरान क्षेत्र में हो रही चोरियों से तंग आकर ढिकौली कॉलोनी के बाहर पहरा दे रहे क्षेत्र के कुछ युवकों ने रणवीर को चोर समझकर शोर मचा दिया। युवकों को अपनी तरफ भागते हुए आता देख घबराए अधेड़ ने भी दौड़ लगा दी।

लाठी-डंडों से कर दिया पिटाई
कॉलोनी के लोगों ने गांव से कुछ दूरी पर ही रणवीर को दबोच लिया। इसके बाद बिना कोई पूछताछ किए लाठी-डंडों से उसकी जमकर पिटाई की। शोर सुनकर रणवीर के गांव वाले मौके पर पहुंचे और पिटाई कर रहे लोगों को ललकारा तो वह मौके से भाग खड़े हुए। अधेड़ के गरीब परिजन सुबह होने का इंतजार करते हुए रात भर उसकी तीमारदारी में जुटे रहे। मगर, सुबह खून की उल्टी करने के बाद रणवीर की मौत हो गई, जिसके बाद उसके परिवार के लोगों में कोहराम मच गया।

हिरासत में लिया गया आरोपी
घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को शांत करते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मृतक के भाई भूपेंद्र ने क्षेत्र के रहने वाले सोनू, मोनू, अमित, बबलू और राजकुमार को नामजद करते हुए कई के खिलाफ हत्या की तहरीर दी है। वहीं, इस मामले में पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज करते हुए कुछ आरोपियों को हिरासत में लिया है, जबकि अन्य की तलाश में जुटी है।