बेटी के जन्म के बाद पति ने बीवी और बच्ची को घर से भगाया, अब पत्नी मांग रही इंसाफ

दरअसल, ये पूरा मामला अयोध्या का है, जहां एक मुस्लिम महिला ने बेटी को जन्म दिया तो उसके पति ने तीन तलाक दे दिया। 20 दिन की बेटी लेकर अब पीड़िता अपने मायके में रह रही है। काफी मशक्कत के बाद पीड़िता की तहरीर पर पति समेत छह के खिलाफ घरेलू उत्पीड़न व दहेज प्रथा का मुकदमा दर्ज हुआ है। जनपद का यह पहला मुकदमा है जो हैदरगंज थाने में तीन तलाक के मामले में दर्ज किया गया है।
loading...
मामला हैदरगंज थाने के जाना बाजार का है, जहां की निवासी जाफरी अंजुम का निकाह थाना महाराजगंज के बाकरगंज निवासी इफ्तिखार से हुआ था। कुछ दिन तो दहेज के लिए पीड़िता को परेशान किया गया। इसके बाद जब पीड़िता ने बेटी को जन्म दिया तो ससुरालवाले और ज्यादा खफा हो गए। 20 दिन की बेटी व उसकी मां को घर से निकाल दिया। पति ने तीन तलाक देते हुए आफरीन से मारपीट कर घर से भगा दिया।
पीड़िता थाना हैदरगंज पहुंची, जहां पर पहले पुलिस ने थाना महाराजगंज जाने की सलाह दी लेकिन, एसएसपी के आदेश पर हैदरगंज थाने में ही मुकदमा दर्ज कर लिया गया। पुलिस ने पति, सास, ससुर समेत छह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। तीन तलाक का यह पहला मुकदमा है जो अयोध्या जनपद के हैदरगंज थाने में लिखा गया है।