'पैसे नहीं दिया तो उन्होंने मेरे बेटी के साथ कर दिया ये काम'-लड़की का बाप, जानें क्या है पूरा मामला

नालंदा में घरेलू हिंसा की शिकार रूपा के साथ उसके ससुराल वालों ने क्रूरता की सारी हदें पारकर उसकी निर्मम हत्या दहेज के खातिर कर दी। इस हत्या की कहानी जिसने भी सुनी वह सन्न रह गया। घटना नालंदा जिले के नगरनौसा थाना क्षेत्र के मुस्तफापुर खपरा गांव की है। बताया जाता है कि सारे थाना क्षेत्र के क्षमटापर गांव निवासी यदुनंदन यादव ने आज से करीब 7 वर्ष पूर्व मुस्तफापुर निवासी जितेंद्र यादव से अपनी पुत्री रूपा की शादी की थी। इन 7 वर्षों में रूपा ने दो पुत्रों को भी जन्म दिया।
loading...
लेकिन रूपा का लालची पति जितेंद्र रूपा पर अपने मायके से 2 लाख नकद व एक बाइक मंगवाने की मांग करता आ रहा था। इसके लिए वह बराबर अपनी पत्नी को प्रताड़ित किया करता था। घटना की जानकारी देते हुए रूपा के पिता ने सदर अस्पताल में बताया कि बेटी ने कई बार टेलीफोन के माध्यम से ससुराल में घटने वाली घटनाओं की जानकारी दिया था। पिता के अनुसार मंगलवार की देर रात्रि रूपा का पति, सास-ससुर व तीन ननद ने रूपा को एक कमरे में बंद कर पहले उसे बेतहाशा लाठी व डंडों से मारा पीटा।इसके बाद सबों ने मिलकर रूपा के पैर व हाथ तोड़ डाले।
अंत में रूपा की हत्या गला दबा कर डाली। इस पूरे घटनाक्रम को आत्महत्या का रूप देते हुए सबों ने शव को घर के कमरे से लगे पंखे में लटका दिया। घटना को अंजाम देने के बाद रूपा के सभी ससुराली सदस्य मृतका के दोनों पुत्र को लेकर घर से फरार हो गए। मृतका के पिता ने बताया कि इस पूरे मामले की जानकारी उन्हें रूपा के ससुराल के ग्रामीण लोगों से मिली। घटना की जानकारी के बाद पुलिस मौका ए वारदात पर पहुंचकर मजिस्ट्रेट के समक्ष शव को नीचे उतारा। नगरनौसा थानाध्यक्ष सुनील राजवंशी ने बताया कि मृतका के पिता के बयान पर दहेज के लिए की गई हत्या के संबंध में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस छापेमारी कर रही है। फिलहाल सभी आरोपी फरार हैं। घटना के बाद रूपा के मायके में मातमी सन्नाटा पसरा है।