शादी के बाद पति हमेशा पिटता था जिसका अंजाम हुआ बुरा, मां बोली-पति और सास ने किया था पिटाई

जालंधर के भार्गव कैंप के लक्कड़ वाले चौक निवासी एक महिला जोकि सिविल अस्पताल में उपचाराधीन थी, के गर्भ में बच्ची की मौत हो गई। महिला का आरोप है कि सास व पति द्वारा की गई मारपीट के कारण बच्ची की मौत हुई है। वहीं, पति का आरोप था कि पत्नी ने जानबूझकर दवाई खाकर बच्ची को पैदा होने नहीं दिया। इस बात को लेकर सिविल अस्पताल के गायनी वार्ड में मायके व ससुराल पक्ष के लोगों में जमकर बहसबाजी हुई।

अभी 6 महीने पहले ही हुई थी दोनों की शादी
loading...
सोनिया पुत्री अशोक कुमार ने बताया कि उसकी शादी 6 माह पहले सौरव निवासी बस्ती शेख से हुई थी। शादी के कुछ समय बाद ही सौरव ने उसे मायके जाने से रोकना शुरू कर दिया और विरोध करने पर सास व पति उसके साथ मारपीट करने लगे। कई बार उसके साथ मारपीट हुई और उसने पुलिस को शिकायत भी की। 2 माह से वह अपने मायके रह रही है और करीब 5 माह की वह गर्भवती भी है। दर्द बढ़ा और सुबह वह सिविल अस्पताल पहुंची डिलीवरी के दौरान उसकी कोख से मृतक बच्ची पैदा हुई। इसका कारण उसके साथ पति व सास द्वारा मारपीट करना ही है।

पति ने आरोपों से किया इनकार 
वहीं, पति सौरव ने पत्नी के आरोपों को गलत करार देते हुए कहा कि उसकी पत्नी नहीं चाहती थी कि वह बच्चे को जन्म दे, इसलिए खुद ही उसे कोख में मार दिया। रही बात मारपीट करने की तो यह बात बिल्कुल गलत है। थाना भार्गव कैप में तैनात ए.एस.आई. विजय कुमार ने बताया कि मृतक बच्ची के शव का पोस्टमार्टम करवाकर बात साफ होगी। यदि रिपोर्ट में बच्ची की मौत का कारण मारपीट से हुई तो पुलिस आरोपी पक्ष के खिलाफ केस दर्ज करेगी।