दो साल से चल रहा था प्रेम प्रसंग, और फिर इस हालात में लोगों ने रचा दिया दोनों की शादी

बिहार में गोपालगंज के उचकागांव में प्रेमी युगल के बीच दो साल से छुप छुपाकर चल रहा प्रेम प्रसंग आखिरकार शादी के रिश्ते में बदल गया. दोनों प्रेमी-प्रेमिका एक दूसरे के गले में वरमाला डाल कर जीवन साथी बन गये. इस शादी का गवाह पुलिस, प्रतिनिधि तथा स्थानीय लोग बने. स्थानीय थाना क्षेत्र के दहीभत्ता पंचायत के महुआरी टोला गांव के सरल नट की बेटी पिंकी कुमारी भीख मांगने के लिए नवादा परसौनी गांव की तरफ आती जाती रहती थी. इसी दौरान नवादा परसौनी गांव की अमेरिका महतो के पुत्र प्रदीप महतो से नजरें चार हो गयी और धीरे-धीरे दोनों में प्यार हो गया. प्यार का रंग धीरे-धीरे परवान चढ़ने लगा और दोनों लुक छुप कर मिलने लगे.
loading...
इसी बीच करीब डेढ़ साल पहले दोनों ने घर छोड़ कर एक दूसरे के साथ रहने का फैसला कर लिया और दोनों घर छोड़कर गुजरात चले गये. इधर, पिंकी की मां जन प्रतिनिधियों के साथ साथ पुलिस को भी मौखिक सूचना देकर अपनी बेटी की तलाश में जुट गयी. पुलिस दबिश के बाद प्रेमी-प्रेमिका घर आये और स्थानीय लोगों के बीच-बचाव के बाद मामला थाने तक नहीं पहुंचा और दोनों अपने अपने घर रस बस गये. लेकिन, प्रेम कम नहीं हुआ और दोनों कुछ ही दिनों के बाद फिर एक साथ घर छोड़कर चल पड़े.
गुजरात में करीब एक साल गुजारने के बाद प्रेमिका गर्भवती हो गयी, तब प्रेमी लेकर उसे घर चला आया. यह बात धीरे-धीरे दोनों गांव के लोगों के बीच फैले लगी. वहीं पूरे मामले की जानकारी दहीभता पंचायत के सरपंच राजनारायण सिंह को भी हो गयी. जिसके बाद उनके द्वारा दोनों प्रेमी को शादी के सूत्र में बांधने के लिए प्रयास शुरू कर दिया गया.
मामला थाने तक पहुंच गया जिसके बाद मंगलवार के दिन दोनों परिवारों के आपसी रजामंदी के बाद थाना अध्यक्ष किरण शंकर के निर्देश पर पुलिस अवर निरीक्षक हरेंद्र पांडे की मौजूदगी में थाना परिसर स्थित शिव मंदिर में हिंदू रीति रिवाज के साथ दोनों की शादी करा दी गयी. इस दौरान इस विवाह को देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. यहां बता दें कि दोनों प्रेमी प्रेमिका अंतरजातीय है. जिसके कारण स्थानीय लोगों में भी एक अलग उत्सुकता की लहर बन गयी थी.