जीजा को कार चाहिए था इसलिए मेरी दीदी के साथ किया ये काम, भाई ने लगाया आरोप

शामली जिले के कैराना में मृत बच्चे को जन्म देने बाद प्रसूता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे मायके पक्ष के लोगों ने ससुरालियों पर दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर परिजनों को समझाकर शांत किया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। जनपद गाजियाबाद के कस्बा लोनी स्थित गोरी पट्टी निवासी महजबी पुत्री रिशाद की शादी 27 नवंबर 2018 को नगर के मोहल्ला आलकलां के रहने वाले युवक के साथ हुई थी। शनिवार रात करीब आठ बजे विवाहिता ने घर पर ही मृत बेटे को जन्म दिया। इसके बाद प्रसूता की भी संदिग्ध मौत हो गई। 
loading...
सूचना पर मायके पक्ष के लोग सुबह यहां पहुंच गए। ससुरालियों पर दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। इस पूरे मामले की सूचना पर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक यशपाल धामा मय टीम के मौके पर पहुंचे, उन्होंने मायके पक्ष के लोगों से बातचीत की। मृतका के भाई इमरान का कहना था कि उसने रात्रि करीब 11 बजे अपनी बहन से फोन पर बात की थी। वह सामान्य डिलीवरी के बाद पूरी तरह से स्वस्थ थी और उसने ससुराल से मायके ले जाने को कहा था। दो बजे पड़ोस के लोगों ने उन्हें फोन पर बहन के मौत हो जाने की सूचना दी। आरोप है कि ससुरालियों ने ही मारपीट कर उसकी हत्या की है।
ससुरालियों द्वारा उससे दहेज में गाड़ी की मांग की जा रही थी। शादी के एक महीने बाद से ही उसका उत्पीड़न किया जा रहा था। पुलिस ने मायके वालों को समझा-बुझाकर किसी तरह शांत किया, जिसके बाद मृतका के शव को परीक्षण हेतु जिला अस्पताल भेज दिया गया है। मामले में मृतका के भाई इमरान की ओर से ससुरालियों के खिलाफ हत्या के आरोप में तहरीर दी गई है। उधर, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक यशपाल धामा का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि रक्त अधिक बहने के कारण से मौत हुई है। मामले की जांच की जा रही है।

  •