प्राइवेट नौकरी करता था और दो बच्चे होने वाले थे, इस चक्कर में उसने कर लिया ऐसा काम

मैनपुरी के कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला हिन्दपुरम में पिता की लाइसेंसी बंदूक से गोली मारकर प्राइवेट शिक्षक ने आत्महत्या कर ली। शिक्षक ने अपने मकान की तीसरी मंजिल पर बने बाथरूम में गोली मारकर जान दे दी। घटना की जानकारी पाकर परिजन मौके पर पहुंचे तो शव पड़ा मिला। शिक्षक की पत्नी गर्भवती थी। परिजनों के मुताबिक वह कई दिनों से पत्नी और गर्भ में पल रहे ट्विन बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित था। उसके एक बेटी पहले से है। कोतवाली के हिन्दपुरम निवासी पुलिस से रिटायर्ड दरोगा रामदेव द्विवेदी का पुत्र 34 वर्षीय सुधीर प्राइवेट शिक्षक था। उसकी एक बच्ची पहले से है। पत्नी गर्भवती थी। 
loading...
परिजनों का कहना है कि चिकित्सकों ने बताया था कि पत्नी के पेट में दो बच्चे पल रहे हैं। यह जानकारी पाकर वह पत्नी और बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित रहने लगा। बुधवार की सुबह वह अपनी पुत्री को स्कूल छोड़कर घर लौटा और सीधे मकान की तीसरी मंजिल पर पिता की लाइसेंसी बंदूक लेकर पहुंच गया। गोली की आवाज गूंजी तो परिवारीजन मौके पर दौड़े। तीसरी मंजिल की बाथरूम में सुधीर का शव रंक्तरंजित अवस्था में पड़ा मिला। पास में ही बंदूक पड़ी थी। मृतक दो भाई था। घटना की जानकारी मिलते ही परिवारीजनों में कोहराम मच गया। 

पोस्टमार्टम हाउस पर जुट गई लोगों की भारी भीड़
खबर पाकर सीओ सिटी अभय नारायण राय, कोतवाली प्रभारी ओमहरि बाजपेई पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने परिजनों से घटना की जानकारी ली और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। घटना की जानकारी पाकर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ पोस्टमार्टम हाउस पर जमा हो गई। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल था। खबर पाकर विधायक रामनरेश अग्निहोत्री भी पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। उन्होंने भी परिजनों से घटना की जानकारी ली और उन्हें ढांढस बंधाया। सीओ सिटी का कहना है कि घटना के संबंध में नहीं मिली है। तहरीर के आधार पर कार्रवाई होगी।