लड़की ने प्यार ठुकराया, बदला लेने के लिए बंदे ने जो किया उससे पुलिस भी चकरा गई

किसी से प्यार करो. वो आपसे न करे. दिल टूटेगा. उस टूटे दिल के नाम पर आप कितना गुस्सा हो सकते हैं? सिकंदराबाद का वी वेंकटेश्वर राव. 17 अगस्त को पास के पोस्ट ऑफिस गया. 7,216 रुपये देकर कुल 62 पार्सल किए. हर पार्सल के अंदर एक बोतल थी. बोतल के अंदर पानी था. गंदा, महकता, नाले का पानी. 62 में से एक पार्सल के ऊपर नाम लिखा था मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव का. एक पार्सल पर था उनके बेटे का नाम.
loading...
एक पर था तेलंगाना राष्ट्र समिति पार्टी (TRS) के प्रेज़िडेंट केटीआर का नाम. बाकी 59 पार्सल भी अलग-अलग अति VIP लोगों को भेजे गए थे. इतना जतन किया. पैसा ख़र्च किया. और पार्सल में भेजा गंदा पानी! क्यों भला? इसलिए कि वेंकटेश्वर एक लड़की को फंसाना चाहता था. जो कभी उसके साथ पढ़ी थी. ऐसा हुआ नहीं. वेंकटेश्वर पकड़ा गया. पुलिस ने उसे अरेस्ट कर लिया है.
वेंकटेश्वर ने एक प्राइवेट कॉलेज से MBA की पढ़ाई की थी. 2008-10 के बैच में. क्लास में एक लड़की थी. जिसे पसंद करता था वेंकटेश्वर. उसने लड़की को प्रपोज़ किया. लड़की ने इनकार कर दिया. वेंकटेश्वर के मन में फांस बैठ गई. इतने सालों तक उसने मन में गुस्सा पाले रखा. किसी तरह बदला लेना था उसे लड़की से. इसीलिए उसने मुख्यमंत्री समेत कुल 62 वीआईपी लोगों को चुना. बोतल में बंद करके उन्हें गंदा प्रदूषित पानी पार्सल किया. उसमें भेजने वाले के पते की जगह उस लड़की का पता डाला.
हालांकि वेंकटेश्वर के पार्सल कभी उन लोगों तक पहुंचे ही नहीं. डिस्पैच सेक्शन में ही रुक गए. वहां ड्यूटी कर रहे लोगों को इन पार्सल्स पर शुबहा हुआ. क्योंकि सारे के सारे पार्सल अति-विशिष्ट लोगों के नाम थे. पुलिस को ख़बर भेजी गई. पुलिस ने जांच की और यूं वेंकटेश्वर राव पकड़ा गया. पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है.