1 महीने पहले बहन गुजर गई थी, अब भाइयों ने प्रेमी से लिया बहन के गुजरने का बदला, जानिए क्या किया...

रतलाम। दो दिन पूर्व इकबाल गंज मेला मैदान जावरा में रतलाम निवासी धारा ३०७ के आरोपी महेन्द्र की हत्या पर से पर्दा रविवार को उठा, महेन्द्र के आरोपियों की बहन से संबंध के चलते गर्भवती होना तथा प्रसव के बाद तबीयत बिगडऩे पर उसकी मौत होने से आहत होकर हत्या जैसा कदम उठाया। १० अक्टूबर की रात में महेन्द्र को अकेला पाकर उसकी चाकू घोपकर हत्या कर दी। पुलिस ने मामले में विवेचना कर पांच लोगों को गिफ्तार किया है। जिन्हें न्यायालय में पेश कर रिमाण्ड पर लिया है।
रविवार को एएसपी तथा सीएसपी ने बताया कि कुछ दिन पहले मोहल्ले में एक महिला की मृत्यु में मृतक की भुमिका होने पर महेन्द्र तथा आरोपियों के बीच तनाव बना हुआ था। आरोपियों ने पुछताछ के बाद बताया कि करीब डेढ़ माह पूर्व उनकी बहन की प्रसव के बाद स्वास्थ खराब होने से इंदौर में मौत हो गई थी। बहन की मौत में महेन्द्र की भूमिका अहम थी। जिससे बहन की मौत का बदला लेने की ठान रखी थी और मौके की तलाश में थे। 
10 अक्टूबर की रात ९ बजे दशहरा मैदान इकबालगंज में सुरज, शिवा तथा नरेन्द्र बैठकर शराब पी रहे थे, इसी दौरान उन्होने महेन्द्र को गली से अकेले आते हुए देखा। जिस पर सुरज, शिवा और नरेन्द्र ने महेन्द्र के साथ मारपीट की बाद में उसे मैदान में पेड़ के नीचे ले जाकर जमीन पर गिरा दिया और नरेन्द्र से चाकू लेकर सूरज ने महेन्द्र पर कई वार किए जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। शिवा व नरेन्द्र पैदल अपने घर से कपड़े लेकर दिलीप के घर पर आए जहां सूरज के खून से लथपथ कपड़े बदलकर जावरा से अहमदाबाद भाग गए। सीसीटीवी फुटेज तथा टेक्निकल एक्सपर्ट की मदद से आरोपियों को पुलिस ने रतलाम से गिरफ्तार किया।