लाखों लेकर भागा युवक, बनारस में बन गया था उद्योगपति, 2 साल बाद मिला तो सभी हुए हैरान....

राशन खरीदी-बिक्री में लाखों की ठगी कर 2 साल से फरारी काट रहे ऋषभ ग्रीन सिटी निवासी केतन बेकारिया (36 साल) को अतत: सिटी कोतवाली पुलिस ने ढूंढ निकाला। केतन बनारस से लगे हुए गांव पुरैना में उद्योग चला रहा था। वह ठगी के पैसों से ही सिद्ध विनायक एग्रो उद्योग संचालित कर रहा था।

2018 में पुलिस ने दर्ज किया अपराध 
सिटी कोतवाली प्रभारी सुरेश धु्रव ने बताया कि केतन के खिलाफ 2018 में धोखाधड़ी और अमानत में खयानत करने की धारा के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी। उसने नितिन कुमार वैद्य के माध्यम से कोल्हापुर महाराष्ट्र से 22 लाख रुपए का शक्कर खरीदा था। इसमें 16 लाख रुपए का भुगतान शेष था। इसके बाद वह अचानक से गायब हो गया। नितिन वैद्य केतन को लगातार तलाश करता रहा, लेकिन वह नहीं मिला। इसके बाद उसने मजबूरी में सिटी कोतवाली पहुंचकर एफआईआर कराया। दो साल बाद केतन पकड़ा गया।

थोक व्यापारी था
केतन बेकारिया मूलत: दुर्ग का है। वह यहां पर अनाज का थोक व्यापारी था। पुलिस का कहना है कि आरोपी ने चावल, लहसुन, शक्कर व नारियल दिलाने के नाम पर कई लोगों से ठगी की है। ठगी की राशि करोड़ों में बताया जा रहा है।