धूमधाम से दरोगा ने की बेटे की शादी, 3 दिन बाद ही हो गई मौत, जानिए ऐसा क्या हुआ

उत्तर प्रदेश के जालौन में यूपी पुलिस के दारोगा ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के बाद परिजनों में चीख पुकार मच गई। दारोगा के आत्महत्या की खबर मिलते ही समूचे महकमे में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया और मामले की जांच में जुट गई। घटना के बाद पूरे घर में मातम छा गया।

जानिए क्या है ये पूरा मामला
जानकारी के अनुसार, घटना उरई कोतवाली के मुहल्ला राजेन्द्र नगर की है। यहां के रहने वाले उप-निरीक्षक धीरेंद्र सिंह राठौर कानपुर देहात के माती मुख्यालय में पुलिस विभाग में तैनात थे। धीरेन्द्र सिंह राठौर मूलरूप से बांदा के उगासी गांव के रहने वाले थे। मौजूदा समय में उरई के राजेंद्र नगर मोहल्ले में उन्होंने अपना मकान बनवाया था, जिसमें परिवार रहता है। बताया गया है कि 9 मार्च को धीरेंद्र सिंह के पुत्र की शादी थी, इसीलिए वह छुट्टी पर घर आए हुए थे।

तीन दिन पहले की थी बेटे की शादी
तीन दिन पहले उन्होंने अपने बेटे की शादी बड़ी धूमधाम से की थी। गुरुवार की सूबह उन्होंने सभी रिश्तेदार को विदा कर दिया था और उनकी विभाग द्वारा दी गयी छुट्टी भी खत्म होने वाली थी। जिसकी तैयारी में वह लगे थे तभी उनका घर में पारिवारिक विवाद हो गया।

परिवार में हुआ था विवाद
विवाद इतना बढ़ गया कि उन्होंने इतना बड़ा कदम उठा लिया और घर के एक कमरे में खुद को बंद कर फांसी लगाकर जान दे दी। इस घटना के बाद पूरे घर में मातम छा गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद जालौन के एसपी स्वामी प्रसाद आलाधिकारियों के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और मामले की जांच में जुट गये।