बेटी से था उसका चक्कर इसलिए लड़के को घर में ही 6 फुट नीचे जमीन के अंदर गाड़ दिया, जानें पूरा....

दिल्ली से सटे साहिबाबाद की गिरधर एंक्लेव कॉलोनी के एक मकान में कानून के छात्र की हत्या कर शव जमीन में 6 फुट नीचे दफनाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। युवक 9 अक्टूबर से लापता था। सोमवार सुबह जमीन खोदकर शव को क्षत-विक्षत अवस्था में बाहर निकाला गया। हत्या का आरोप मृतक के पूर्व मकान मालिक पर है। आरोपी परिवार समेत घर से फरार है।
बलिया के रहने वाले नरेंद्र सिंह का 30 वर्षीय पुत्र पंकज कुमार सिंह जीटी रोड स्थित आईएमई कालेज में एलएलबी चतुर्थ वर्ष की पढ़ाई कर रहा था। पंकज ने कॉलेज के पास बनी गिरधर एंक्लेव कालोनी में ही किराये पर कमरा लेने के साथ फ्रेंड के नाम से एक साइबर कैफे चला रखा था और करीब 20 बच्चों को ट्यूशन भी दे रहा था। मृतक के पिता नरेंद्र सिंह के मुताबिक 9 अक्टूबर की सुबह से पंकज का फोन नहीं लग रहा था। परिजनों ने काफी तलाशने के बाद पुलिस को मामले की सूचना दी। इस मामले में 12 अक्टूबर को युवक की गुमशुदगी साहिबाबाद थाने में दर्ज की गई। 
शनिवार सुबह परिजनों के कहने पर पुलिस ने कॉलोनी के ही मुन्ना यादव के मकान में बने बेसमेंट के एक कमरे में शक के आधार पर खुदाई शुरू की, लेकिन तीन फुट खोदने के बाद खुदाई बंद कर दी। इसके बाद रविवार को खुदाई की गई, लेकिन कुछ पता नहीं चला। पड़ोसियों और परिजनों के कहने पर सोमवार सुबह फिर खुदाई शुरू कराई गई। सुबह 8:30 बजे खुदाई के दौरान जमीन से 6 फुट नीचे पंकज का शव बरामद हो गया। 
जिस कमरे से शव बरामद हुआ उस कमरे से पुलिस को डिओडरेंट की पांच खाली शीशी भी बरामद हुई हैं। इसके साथ ही एक केमिकल भी बरामद हुआ है। तीनों कमरों में आरोपी ने फर्श पर सीमेंट की लेप लगाई थी ताकि लगे कि तीनों कमरों की फर्श नई बनाई गई है। लोगों ने बताया कि मुन्ना घर बनाने का काम जानता था, इसलिए उसे फर्श पर सीमेंट की लेप लगाते हुए दिक्कत नहीं हुई। मृतक के भाई मनीष कुमार सिंह की शिकायत पर साहिबाबाद थाने में मुन्ना यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।