भक्तों ने किया ऐसा कांड कि पुलिस ने ‘भगवान हनुमान’ को ही कर लिया गिरफ्तार, जानिए कारण

loading...
‘भगवान हनुमान’ पुलिस हिरासत में हैं! जी हां आपने सही सुना। यह खबर आयी बिहार के वैशाली जिले से। दरअसल यहाँ के एक गाँव में हनुमान जी देवता की बहुत बड़ी मूर्ति की स्थापना की जगह पर भक्तों के दो गट आपस में भिड़ गए। पुलिस ने कहा कि मूर्ति इस सप्ताह के शुरू में सदर थाना अंतर्गत पानापुर गौराही गांव में राम जानकी मठ से संबंधित एक “विवादित भूमि” पर अनुसूचित जाति के श्रद्धालुओं के एक समूह द्वारा स्थापित की गई थी।
गुरुवार को उच्च जाति के भक्तों के एक समूह ने “विवादित स्थल” पर मूर्ति की स्थापना पर आपत्ति जताई और मूर्ति को हटा दिया गया और मूर्ति को सदर पुलिस द्वारा हिरासत में ले लिया गया। हाजीपुर के एसडीपीओ राघव दयाल ने कहा, “सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार सार्वजनिक भूमि पर किसी भी मूर्ति या मंदिर की स्थापना पर प्रतिबंध है। इसलिए कार्रवाई शुरू की गई और भगवान हनुमान की मूर्ति को कब्जे में ले लिया गया। यह मामला अदालत द्वारा तय होने तक सदर पुलिस थाने की हिरासत में रहेगा।”
सदर पुलिस स्टेशन के एसएचओ रोहन कुमार ने कहा, “गांव में भगवान हनुमान की मूर्ति की स्थापना को लेकर दो प्रतिद्वंद्वी समूह आपस में भिड़ गए थे। चूंकि क्षेत्र में तनाव अधिक चल रहा था और इसने कानून और व्यवस्था की समस्या पैदा हो गयी थी, इसलिए हमने मूर्ति को कब्जे में लेना बेहतर समझा।” दोनों गुटों के सदस्यों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज की गई है। एसएचओ ने कहा कि विवादित जमीन पर प्रतिबंधात्मक आदेश लागू करने के लिए उप-विभागीय अधिकारी को सिफारिशें भेजी गई हैं। दोनों समूहों को यथास्थिति बनाए रखने के लिए कहा गया है।