घर के सामने जेसीबी से चल रही थी खुदाई, थोड़े ही देर में हुआ कुछ ऐसा की घर में मौजूद मां-बेटे गुजर गए...

कांग्रेसी विधायक काका रणदीप सिंह के घर के पीछे बाग में जेसीबी की खुदाई से नाभा की बांसा स्ट्रीट में एक घर की छत गिर गई, जिससे मां बेटे की मौत हो गई। बाग कांग्रेसी विधायक काका रणदीप सिंह की प्रापर्टी है और पिछले कई सालों से उनके भाई बाग को ठेके पर दे रहे थे। हादसे के बाद डीएसपी नाभा ने जल्दबाजी में बयान देते हुए कहा कि शॉपिग माल के काम में लगी जेसीबी कारण हादसा हुआ, जबकि विधायक काका रणदीप सिंह ने कहा कि बाग उनके ही है परंतु पिछले कई सालों से ठेके पर दिये हैं। उन्होंने हादसे पर दुख जताते हुए डीएसपी को आरोपित ठेकेदार के खिलाफ सख्त कार्रवाई को कहा है।
जेसीबी की खुदाई के दौरान दीवार के साथ सटे मकान की छत गिर गई जिससे 30 वर्षीय महिला दीक्षा उर्फ हीना पत्नी अनिल कुमार और 6 वर्षीय बेटा पारस की मौत हो गई। हादसा सोमवार दोपहर करीब साढ़े चार बजे हुआ मां-बेटा घर के कमरे में थे कि अचानक गार्डर बालों वाली छत गिर गई। घायलों को तुरंत नाभा के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया परंतु दोनों की मौत हो चुकी थी। बताया जा रहा है की घटना से एक घंटा पहले ही मृतक महिला का पति खाना खाकर दुकान पर लौटा था। दोनों मां-बेटा खाना खाने के बाद कमरे सो रहे थे। मृतका की सास कमला देवी घर कमरे के बाहर मौजूद थी।
मौके पर पहुंचे नाभा के डीएसपी वरिदजीत सिंह थिद ने पत्रकारों को बताया की घर के साथ लगती जगह पर मॉल बनाने को लेकर काम चल रहा था जेबीसी घटना वाले मकान के साथ काम कर ही थी जेबीसी और ठेकेदार मौके से भाग खड़े हुए है। थाना कोतवाली पुलिस मामले की जांच कर रही है। मृतकों के शव पोस्टमार्टम करवाने के लिए सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखे हुए है जहां मंगलवार को उनका पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

डीएसपी ने छुपाया, विधायक ने बताया सच

मॉल की कंस्ट्रक्शन मे लगी जेसीबी के डीएसपी के बयान पर कांग्रेसी विधायक काका रणदीप सिंह ने कहा कि मॉल का निर्माण हादसे की जगह से करीबन एक हजार मीटर दूर हो रहा है। हादसा उनके बाग मे लगी जेसीबी कारण हुआ जो उनके भाई ने ठेके पर दिया है। ठेकेदार ने घर के पास दीवार के साथ अधिक खुदाई कर दी होगी। बाउंडरी की दीवार कच्ची है। हादसे का उनको बेहद दुख है और वे चाहते है कि ठेकेदार पर सख्त कार्रवाई हो।