भाभी को ले भागा देवर, और फिर उसके बाद जो किया जानकर हैरान होंगे आप....

एक युवक को अपने बड़े भाई की पत्नी इतनी पसंद आई कि, शादी ही न की। कुछ साल एक ही छत के नीचे रहने के बाद वह अपनी भाभी को लेकर गांव से चला गया। लेकिन करीब दो साल साथ रहने के बाद गत दिनों महिला की संदिग्ध हालातों में मौत हो गई। देवर ने हत्या की या महिला ने आत्महत्या, यह तो जांच से पता चलेगा। चम्बलांचल के जिला भिंड की पुलिस को मृतका की विधवा मां ने शिकायत दर्ज कराते हुए बताया कि, सात साल पहले बेटी को घर से सुभाष जाटव के साथ विदा किया था, लेकिन दो साल पहले दीनानाथ उसको जबरन उठा ले गया। हम चुप ही रहे क्योंकि बेटी के बाप मर चुके थे। हमारे पास विरोध करने या लड़ने की ताकत नहीं थी।

दीनानाथ उसके साथ में हमेशा गलत काम करता रहा और आज बेटी को मार ही दिया। यह कहते हुए मृतका की मां मालती रो पड़ी। पुलिस ने मामले को गंभीरता लेते हुए मृतका के ताऊ से आवेदन लेकर जांच करने का आश्वासन दिया। जानकारी के मुताबिक भिंड के देहात थाना अंतर्गत गांधीनगर गली नंबर 3 में 16 अक्टूबर को 29 वर्षीय सहोदरी जाटव पत्नी दीनानाथ जाटव निवासी मिसुर का पुरा शाम को कमरे में रस्सी से लटकी मिली थी। पुलिस ने उसकी डेड बॉडी परिजनों के आने के इंतजार में पीएम हाउस में रखी हुई थी।
शनिवार सुबह मृतका की मां मालती देवी 55 वर्ष पत्नी स्वर्गीय जगदीश जाटव एवं ताऊ तुलसीदास यादव ग्राम तुलसीपुरा, पोस्ट लटारी, जिला सूरजपुर छत्तीसगढ़ से भिंड पहुंचे और पुलिस को यह दास्तां सुनाई। मृतका की मां मालती ने पुलिस को बताया मैंने बेटी सहोदरी (29) की शादी 7 साल पूर्व सुभाष जाटव से की थी, लेकिन दीनानाथ (सुभाष का छोटा भाई) उसे अपनी पत्नी बनाकर रखना चाहता था। बेटी इसका विरोध करती थी। कई बार इस बारे में बेटी ने मुझे अवगत कराया था। मैंने समझा बुझा कर परिवार के लोगों को बताया और मामला रफा-दफा करवा दिया था। इसके बाद भी वह सहोदरी को जबरन राजस्थान ले गया। जहां बेटी के साथ में बदसलूकी कर मारपीट की गयी थी। उसके बाद दो साल से यहां गांधी नगर भिंड में किराए के कमरे में रखे था। इसके पास परिवार के लोगों ने आना-जाना भी बंद कर दिया था।