कई बार पकड़ाया, कई बार फरार, जानिए क्या है इस लड़के की कहानी....

बिहार के इंजीनियर की एके-47 से हत्या करने वाले कुख्यात संतोष गैंग का बदमाश विकास झा उर्फ कालिया पुलिस के हत्थे चढ़ गया। बिहार पुलिस से भागकर दिल्ली में छिपे बदमाश को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने धर लिया। आरोपी के खिलाफ फिरौती के लिए कई हत्या करने का आरोप है और वह हत्या के मामले में दोषी साबित हो चुका है। आरोपी को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी, लेकिन वह पुलिस कस्टडी से भाग गया। आरोपी विकास बिहार के सीतामढ़ी का रहने वाला है, जिसके खिलाफ कई हत्या, फिरौती के मामले दर्ज हैं। 
आरोपी एके-47 से इंजीनियर की हत्या करके सुर्खियों में आया था। स्पेशल सेल डीसीपी पीएस कुशवाह ने बताया कि आरोपी को बुधवार की रात नांगलोई से गिरफ्तार किया गया है, जहां वह कुछ महीनों से छिपा हुआ था। आरोपी संतोष झा गिरोह का कुख्यात सदस्य है और बिल्डर, कॉन्ट्रैक्टर, इंजीनियर सहित लोगों से उगाही करता था। उगाही में रकम न देने वालों की हत्या करने से भी गिरोह गुरेज नहीं करता था। गिरोह की 4 हत्या में विकास झा भी शामिल था। आरोपी ने साल 2010 में अंडा की रेहड़ी लगाने वाले शख्स पर हमला किया था और वह उसका पहला क्राइम था। फिर आरोपी ने संतोष गैंग जॉइन कर लिया और साल 2011 में इंजीनियर की एके-47 से हत्या कर दी। 
आरोपी बाल सुधार गृह में गया, लेकिन वहां से सुधरा नहीं और वहां से फरार हो गया। बाहर आकर आरोपी ने कई वारदातों को धड़ाधड़ अंजाम दिया। वह कई बार गिरफ्तार हुआ, लेकिन हर बार पुलिस कस्टडी से भाग जाता था। कुछ दिनों पहले उसके गिरोह में फूट पड़ गई। संतोष को उसके ही गिरोह के बदमाश मुकेश ने कोर्ट कॉम्प्लेक्स में मार गिराया और फिर पूरे गिरोह की कमान संभाल ली। गिरोह की सत्ता बदलने के बाद विकास वहां से दिल्ली भाग गया और संतोष का बदला लेने के मौके की तलाश करने लगा। हालांकि उससे पहले ही बिहार पुलिस के साथ मिलकर सेल ने उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के पास से अवैध हथियार बरामद हुआ।