औलाद न होने कारण ताने देती थी पत्नी, इसीलिए पति ने कर दिया ऐसा काम की....

पट्टी निवासी अमरजीत सिंह सोनू ने खुलासा किया कि विवाह के आठ वर्ष गुजर जाने के बावजूद औलाद न होने कारण वह काफी परेशान था। ऊपर से बेवजह पत्नी द्वारा ताने दिए जाते थे, जिससे तंग आकर उसने अपनी पत्नी को कुल्हाड़ी से काट डाला। अब सोनू को अपने किए का बहुत पछतावा हो रहा है। हालांकि वह जानता है कि किरनदीप कौर के परिजन और कानून उसे माफ नहीं करेंगे। 2011 में फिरोजपुर जिले के गांव नवां किला निवासी बलकार सिंह की लड़की किरनदीप कौर की शादी पट्टी निवासी बूटा सिंह के लड़के अमरजीत सिंह सोनू के साथ हुई थी। 
हनत मजदूरी करने वाले सोनू को उसकी पत्नी कई बार गरीबी कारण ताने देती तो कई बार औलाद न होने का सारा भंडा उस पर फोड़ दिया जाता। उक्त जानकारी अमरजीत सिंह सोनू ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ के दौरान दी। सोनू की मानें तो वह जब मेहनत मजदूरी के लिए घर से जाता था तो कई बार जरूरत पड़ने पर अपनी पत्नी को फोन करता था। लंबे समय तक पत्नी का फोन बिजी रहता था। पूछने पर कोई ठोस जवाब नहीं मिलता, बल्कि किरनदीप कौर द्वारा उसे यह कहकर चुप करवा दिया जाता कि वह मायके चली जाएगी। 
किरनदीप कौर तीन दिन पहले अपने पति से रूठकर मायके चली गई। सोनू ने बताया कि पत्नी को वापिस लाने के लिए गया तो वहां पर भी ताने दिए गए। रास्ते में पति-पत्नी के बीच विवाद हुआ। घर लौटते ही सोनू ने अपनी पत्नी की बुरी तरह से पिटाई की। जब पत्नी घायल हो गई तो दवाई दिलाने का बहाना बनाकर उसे घर से बाहर ले गया। रेलवे लाइन के पास कुल्हाड़ी से किरनदीप कौर की हत्या करके सोनू सोमवार को पुलिस समक्ष पेश हो गया। पुलिस हिरासत में सोनू बार-बार कह रहा था कि मैंने अपनी जीवन साथी को मार डाला है। अब मुझे कानून माफ नहीं करेगा, परंतु मुझे किए का पछतावा है।

सोनू ने ही की है पत्नी की हत्या
थाना पट्टी के प्रभारी इंस्पेक्टर बलविंदर सिंह ने बताया कि मृतका का पोस्टमार्टम करवाकर आरोपित को अदालत में पेश करके आगे की कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। आरोपित द्वारा अपना गुनाह कबूल कर लिया गया है। जांच में सामने आया है कि अपनी पत्नी का कत्ल करने में आरोपित सोनू ने ओर किसी की मदद नहीं ली।