पहले तो लड़की के साथ किया गलत, शिकायत करने गए पिता तो पीट दिए गए

भले ही उत्तराखंड पुलिस मित्र पुलिस का नारा देती हो लेकिन कुछ पुलिस के अधिकारी मित्र पुलिस के नारे को खराब करने का काम कर रहे हैं। जिसका नतीजा है लड़की से छेड़छाड़ के मामले में शिकायत करने गए पीड़िता के पिता के साथ दरोगा ने आरोपी पर कार्यवाही करने की जगह पीड़िता के पिता की पिटाई कर डाली और उसे कोतवाली ले आई।
मामला काशीपुर के प्रतापपुर चौकी क्षेत्र का है। जहां चौकी के सामने एक परिवार अपना गुजर-बसर करता है। बता दें कि ने 12 अक्टूबर को युवती अपने घर में सो रही थी की एक युवक अचानक घर में घुस गया और युवती से छेड़छाड़ करने लगा। जिसके बाद पीड़िता के पिता ने मामले की शिकायत चौकी इंचार्ज विनोद जोशी से की जिसके बाद चौकी इंचार्ज ने युवक को डांट फटकार कर भेज दिया। जिसके बाद युवक संतोष सैनी का हौसला और बढ़ गया और अगले ही दिन युवक फिर से युवती के घर पहुंच गया और युवती से फिर छेड़छाड़ कर डाली।
जिसके बाद जब पीड़िता के पिता चौकी में शिकायत करने गए पुलिस का अमानवीय है चेहरा सामने आया। पुलिस द्वारा युवक के खिलाफ कार्यवाही करने की जगह पीड़िता के पिता की ही पिटाई कर डाली और उसे कोतवाली ले आए। मामले में एक नया मोड़ तब आया जब युवती के पिता ने संतोष सैनी को पुलिस द्वारा अवैध वसूली और खाना बनाने के लिए चौकी में रखने की बात कही। 
पुलिस कार्यवाही करने की जगह पीड़ित पक्ष पर समझौते का दबाव बनाने लगी। वही पीड़िता और उसके पिता ने बताया कि युवक द्वारा पुलिस के लिए अवैध वसूली और खाना बनाने का काम किया जाता है। उन्होंने बताया कि पुलिस उन पर समझौते के लिए दबाव बना रही है। वहीं सीओ मनोज ठाकुर ने बताया कि कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।