दुकान पर काम करती थी लड़की, और फिर दुकान पर आये कुछ लोगों ने उसके साथ किया ऐसा गलत की....

पिंकी रावत की हत्या के मामले में खुलासे की मांग को लेकर पर्वतीय समाज के लोगों ने आज काशीपुर में प्रदर्शन और नारेबाजी की। लोगों ने पिंकी को इंसाफ देने की बात कही। हाथ में पोस्टर लिए हुजूम पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा और विधायक को खूब खरी खोटी सुनाई। शुक्रवार को काशीपुर के गिरिताल रोड स्थित मोबाइल शोरूम पर कार्यरत सेल्स गर्ल की दिनदहाड़े चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी और डेढ़ लाख के 11 मोबाइल भी गायब हो गए थे।
गाजियाबाद निवासी मनीष चावला 15 साल पहले काशीपुर आकर बस गए। मनीष ने गिरिताल में ही द मोबाइल वर्ल्ड भूमिका इंटरप्राइजेज नाम से मोबाइल का शोरूम खोला। जहां पौड़ी तहसील धुमाकोट के ग्राम दिगौलीखाल निवासी पिंकी रावत पुत्री मनोज रावत तीन माह से काम कर रही थी। वह मानपुर रोड पर आरके पुरम कॉलोनी में चंदन सिंह के मकान में अपने भाई प्रवीण रावत के साथ किराए पर रहती थी। 
शुक्रवार दोपहर करीब 12 बजे मनीष चावला ने पुलिस को सूचना दी कि शोरूम में सेल्स गर्ल पिंकी की किसी ने हत्या कर दी है। हत्यारे ने चाकू से पिंकी के पेट पर चाकू से आठ बार वार किए। ये निशान छह से 10 सेमी गहराई के बताए जा रहे हैं। अनुमान है कि हत्यारे ने मृतका की गर्दन दबाकर एक के बाद एक आठ प्रहार किए। अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि हत्यारा एक था या उससे अधिक।