ये महिला ऐसे फंसाती अपने जाल में और... फिर कॉल रिकॉर्डिंग ने खोल दिया पूरा राज....

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के न्यू राजेंद्र नगर इलाके के एक डॉक्टर के खिलाफ इलाज के बहाने दुष्कर्म करने की झूठी रिपोर्ट लिखाने वाली महिला के खिलाफ पुलिस ने ब्लैकमेलिंग का अपराध दर्ज किया है। महिला के अलावा उसकी वकील बहन को भी आरोपी बनाया गया है। आरोपी महिला और उसकी बहन डॉक्टर से अनाचार की रिपोर्ट दर्ज कराने की धमकी देकर 30 लाख रुपए की मांग कर रही थी। डॉक्टर ने इसकी वॉइस रेकार्डिंग कर ली थी। इसी के आधार पर पुलिस ने आरोपी महिला अमिता शंभरकर और उनकी बहन के खिलाफ धारा 384, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

जानें क्या है मामला
राजेंद्र नगर के डॉक्टर के पास गुढि़यारी की अनिता करीब दो साल पहले अपना इलाज कराने पहुंची थी। इलाज के कई चरणों से गुजरने के बाद उसे छुट्टी दे दी गई थी। बाद में उसने गलत इलाज करने का आरोप लगाते हुए डॉक्टर के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग में शिकायत की और क्षतिपूर्ति की मांग की। इससे उन्हें कोई लाभ नहीं मिला। इसके बाद जुलाई 2019 में न्यू राजेंद्र नगर थाने में महिला ने इलाज के बहाने बेहोशी का इंजेक्शन लगाकर डॉक्टर द्वारा दुष्कर्म करने की शिकायत दर्ज कराई। महिला की शिकायत पर पुलिस ने डॉक्टर के खिलाफ दुष्कर्म का अपराध दर्ज कर लिया। इस दौरान डॉक्टर की शिकायतें दरकिनार कर दी गई।

झूठी निकली शियत, ब्लैकमेलिंग का था मामला

पुलिस ने महिला के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया। इस बीच डॉक्टर ने पूरी एफआईआर को चुनौती देते हुए महिला के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की और महिला और उसकी बहन द्वारा डॉक्टर से 30 लाख रुपए मांगे, पैसा नहीं देने पर दुष्कर्म की रेपोर्ट दर्ज करने आदि की धमकी देते हुए ऑडियो रेकॉर्डिंग पेश किया। इससे महिला द्वारा झूठी रेपोर्ट दर्ज कराने का खुलासा हुआ। पुलिस ने दोनों महिला के खिलाफ ब्लैकमैलिंग का अपराध दर्ज कर लिया है।

3 लाख देने को तैयार थे डॉक्टर 
आरोपी अनीता शुभरकर इलाज में लापरवाही का आरोप लगते हुए डॉक्टर के खिलाफ लगातार शिकायतें कर रही थी। इस दौरान डॉक्टर ने उन्हें तीन लाख रुपए देने और उनका पूरा उपचार कराने का आश्वासन दिया था। इस दैरान महिला ने 3 लाख की जगह 30 लाख की मांग की। और अपनी वकील बहन के साथ डॉक्टर पर 30 लाख रुपए देने के लिए दवाब बनाने लगी।