पति सो रहा था तभी पत्नी ने किया कुछ ऐसा काम की सुबह मच गया हंगामा, जानें ऐसा क्या हुआ...

मल्लावां कोतवाली क्षेत्र के सुल्तापुर मजरा बरौना निवासी आशिक अली (35) खेतीबाड़ी करते थे। भाई राहत हुसैन ने बताया कि आशिक अली का निकाह नूरी के साथ हुआ था और उनके तीन बच्चे मुस्कान उर्फ आरिफा, गूंगी और पुत्र अल्ताफ हैं। कुछ वर्षों से दोनों के बीच घरेलू कलह हुई और इसके बाद नूरी बच्चों को लेकर अपने मायके जोगीकोट कोतवाली बांगरमऊ उन्नाव में रहने लगी। 
अभी करीब एक माह पूर्व ही वह अपनी 16 वर्षीय पुत्री मुस्कान के साथ सुल्तापुर आई थी और उसके बाद से आशिक अली के साथ रह रही थी। मंगलवार की रात दोनों के बीच विवाद हुआ और नूरी ने सोते समय आशिक अली के सिर पर ईंट से हमला कर दिया। जिसमें उसकी मौत हो गई। मौत के बाद नूरी ने शव को घर के बाहर फेंक दिया। बुधवार की सुबह पड़ोसी महिला ने शव देखा तो गांव के लोगों को जानकारी हुई। भाई ने पुलिस को घटना की सूचना दी। पति की हत्या के बाद नूरी घर से भागी नहीं। 
सीओ आरएस कुशवाहा, कोतवाल शिवशंकर सिंह मय फोर्स के मौके पर पहुंचे और नूरी को हिरासत में ले लिया। पुत्री मुस्कान का कहना है कि रात में विवाद के बाद मां ने सोते समय पिता के सिर पर ईंट मार दी थी। जिससे उनकी मौत हो गई। कोतवाल शिवसिंह ने बताया कि राहत हुसैन की तहरीर पर नूरी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। उसका कहना है कि नूरी का चाल चलन ठीक नहीं था और उसी को लेकर विवाद होता था।
पहले खिलाया था नशीला पदार्थ : एएसपी पूर्वी ज्ञानंजय सिंह ने बताया कि नूरी पर आशिक अली आरोप लगाता रहता है। जिस कारण वह मायके में रहने लगी थी। मंगलवार की रात इसी बात को लेकर विवाद हुआ। जिसके बाद नूरी ने आशिक अली को नशीला पदार्थ खिलाया और चारपाई में बांधकर ईंट से हत्या कर शव को बाहर फेंक दिया।