ट्रेन में बैठे हुए थे अचानक जो हुआ जानकर हैरान हो जाएंगे आप...

चचेरे भाई व मित्रों के साथ ट्रेन से घर जा रहे युवक को मनबढ़ों ने मंगलवार को हुरमुजपुर हाल्ट के पास चलती ट्रेन से बाहर फेंक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। इससे यात्रियों में हड़कंप मच गया। दु्स्साहसिक तरीके से वारदात को अंजाम देकर आरोपी जखनियां स्टेशन पर ट्रेन रुकते ही भाग निकले। आजमगढ़ के मुबारकपुर थाना क्षेत्र के गजहरा गांव निवासी राजीव गौतम सोमवार को माहपुर स्थित अपने बहन के घर आया था। 
मंगलवार की सुबह 55122 सवारी गाड़ी में वह अपने चचेरे भाई श्रीकांत व दो मित्रों के साथ मऊ जाने के लिए रवाना हुआ। सादात रेलवे स्टेशन पर मऊ के इस्लामपुर निवासी एक मुस्लिम युवक अपने दर्जन भर साथियों के साथ ट्रेन में चढ़ा और बिना कोई कारण बताए राजीव को पीटने लगा। श्रीकांत ने बीच-बचाव करना चाहा तो उसे भी मारपीटकर घायल कर दिया। गाली-गलौच देते हुए राजीव को हुरमुजपुर हाल्ट के पास चलती ट्रेन में आपातकालीन खिड़की से बाहर फेंक दिया। 
इससे राजीव का एक हाथ और एक पैर ट्रेन से कट गया जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। किसी यात्री की सूचना पर सीओ सैदपुर आरबी सिंह, जीआरपी औड़िहार व बहरियाबाद थाना की पुलिस पहुंच गई। एसओ बहरियाबाद सुशील कुमार यादव के अनुसार शव को कब्जे में ले लिया गया है। फिलहाल कोई तहरीर नहीं मिली है। मऊ जीआरपी मामले को देख रही है। उधर मऊ के जीआरपी प्रभारी ओमप्रकाश तिवारी ने बताया कि मृत राजीव गौतम पर मऊ, आजमगढ़ व मुबारकपुर में कुल सात मुकदमे दर्ज हैं। उस पर गैंगस्टर भी लगा है।