कार से घाट पुल पहुंचा व्यापारी का बेटा, गाड़ी में मोबाइल और पर्स रखने के बाद कर लिया ऐसा काम....

वारणसी नगर स्थित रामपुर वार्ड के श्याम बिहार कॉलोनी निवासी व्यापारी वेद प्रकाश पाठक के पुत्र शंभू पाठक ने शुक्रवार की सुबह खौफनाक कदम उठा लिया। कार से सामने घाट पुल पर पहुंचा और गाड़ी में मोबाइल-पर्स रखने के बाद गंगा में कूद गया। देर शाम तक एनडीआरएफ और पुलिस टीम उसकी तलाश करती रही। शंभू ने क्यों ऐसा कदम उठाया, इस पर परिवार वाले भी कुछ नहीं बोल रहे हैं। 
जानकारी के अनुसार सुबह करीब 11 बजे शंभु घर से खाना खाने के बाद चारपहिया वाहन से रामनगर सामनेघाट पुल पर पहुंचा। गाड़ी को पुल पर खड़ा कर कुछ देर तक टहलता रहा। फिर मोबाइल व पर्स गाड़ी में छोड़कर पुल की रेलिंग पर चढ़ गया। कुछ लोगों ने उसे रेलिंग पर खड़ा देखा तो दौड़ पड़े। जब तक कोई करीब आता उसने गंगा में छलांग लगा दी।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने गाड़ी के कागजात के आधार पर परिजनों को सूचना दी। थोड़ी देर में परिजन वहां पहुंच गए। पुलिस ने स्थानीय गोताखोर और एनडीआरएफ टीम लगाकर देर रात तक उसकी तलाश की, लेकिन कुछ पता नहीं लगा। परिजनों के अनुसार शंभू का व्यवहार रोज की तरह ही था।
पिता वेद प्रकाश पाठक मूल रूप से चिनारी मोहनिया के रहने वाले हैं। भट्टा का कारोबार है। वेद प्रकाश चिनारी में पूर्व में कोऑपरेटिव अध्यक्ष भी रह चुके हैं। बीते 10 वर्ष से रामनगर में मकान खरीदकर रह रहे थे। शम्भू पिता के काम के साथ कारोबार देखता था। जवान बेटे के कदम से मां कविता पाठक का रो-रोकर बुरा हाल था।