पति रोज करता था घर में अपशकुन, ज्यादा परेशान हो जाने पर पत्नी ने कर दिया ये काम

समाना जिले के प्रतिदिन की मारपीट से दुखी गांव तरखान माजरा निवासी 3 मासूम बच्चियों की मां ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मायके परिवार द्वारा सूचना दिए जाने पर घटनास्थल पर पहुंचे सदर पुलिस प्रमुख ने स्थिति का जायजा लेकर कुलदीप कौर के पति को काबू कर लिया और उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल समाना लाया गया।
सिविल अस्पताल समाना में कुलदीप कौर (30) के शव को लेकर पुलिस के साथ पहुंचे उसके भाई गुरजीत सिंह पुत्र अजायब सिंह निवासी गांव गाजेवास ने बताया कि 7 साल पहले उन्होंने अपनी बहन कुलदीप कौर का विवाह राजमिस्त्री का काम करने वाले तरखान माजरा गांव निवासी हरपाल सिंह के साथ किया था। उनकी 5 साल, 3 साल, व एक साल की 3 बच्चियां थीं। शराब पीने का आदी हरपाल सिंह अक्सर कुलदीप कौर की बुरी तरह मारपीट करता था। कई बार सदर पुलिस में ऐसा बर्ताव न करने का विश्वास दिलवाकर वह अपनी पत्नी को घर ले गया था लेकिन उसका यह मारपीट का सिलसिला लगातार जारी रहा।
शनिवार सुबह भी कुलदीप कौर का हाल जानने के लिए फोन किए जाने पर हरपाल ने उसके बीमार होने बारे बताया, जिसके बाद वह अपनी माता को लेकर तरखान माजरा गांव पहुंचने पर उन्होंने कुलदीप कौर को मृत पाया और उसकी गर्दन पर निशान देख शंकित होकर गाजेवास में अपने परिजनों व सदर पुलिस को जानकारी दी। मामले के संबंध में सदर पुलिस प्रभारी इंस्पैक्टर गुरदीप सिंह संधू ने बताया कि कुलदीप कौर के भाई गुरजीत सिंह के बयानों के आधार पर हरपाल सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर उसको हिरासत में ले लिया गया है।