बाहर आते ही सबसे पहले पहुंचा लड़की के घर और करने लगा ऐसा काम, फिर जो हुआ...

उत्तर प्रदेश के गोंडा में रेप के आरोप में जेल में बंद एक व्यक्ति जेल से छूटते ही रेप पीड़िता के घर पहुंच गया। पीड़िता के परिजन को धमकाते उसने पहले सुलह करने का दबाव बनाया। अपनी दाल गलती न देखकर उसने खुद पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा ली। लड़की के परिजन ने आग बुझाई और डायल-100 पर फोन करके पुलिस और ऐम्बुलेंस को सूचना दी। मौके पर पहुची पुलिस ने आरोपी को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां आरोपी का इलाज हो रहा है।
घटना वजीरगंज थाना क्षेत्र के एक गांव की है। बीती 23 अप्रैल को आरोपी 14 वर्षीय नाबालिग लड़के का अपहरण और रेप करके फरार हो गया था। पुलिस ने पीड़िता का चिकित्सीय परीक्षण कराते हुए अपराध धारा 363, 36, 376, 506, 323 पॉक्सो ऐक्ट सहित दुराचार की धाराओं में मामला दर्ज किया था। फरार होने के बाद पुलिस ने आरोपी पर 15 हजार का इनाम भी घोषित कर दिया था। 27 मई को फरार आरोपी को गिरफ्तार करके पुलिस ने जेल भेज दिया।

नशे की हालत में पीड़िता के घर पहुंचा आरोपी

दो दिन पहले आरोपी जमानत पर छूट कर आया। मंगलवार को वह शराब के नशे में अचानक पीड़िता के घर पहुंच गया और पीड़िता के परिजन को धमकाते हुए सुलह करने का दबाव बनाने लगा। परिजन को दबाव में न आता देख उसने खुद को आग लगा ली। परिजन ने आग बुझाते हुए पुलिस और ऐम्बुलेन्स को सूचना दी। मौके पर पहुंची डायल हंड्रेड पुलिस ने आरोपी को जिला अस्पताल पहुंचाया।
जानकारी के मुताबिक, आरोपी का इलाज जिला अस्पताल में हो रहा है। वहीं, पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की और वहां मौजूद लोगों का बयान लिया। प्रभारी निरीक्षक संजय दूबे ने बताया कि रेप आरोपी ने पीड़ित परिवार पर सुलह का दबाव बनाने के लिए खुद को जलाने का प्रयास किया है। पुलिस जांच के साथ स्थिति पर नजर रखे हुए है।