एक बैग कपड़े दिए और फिर माँ को छोड़ कर चली गई बेटी, जानिए क्या था कारण....

दुनिया में ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो बुढ़ापे में उन्हें बेसहारा छोड़ देने में जरा भी शर्म महसूस नहीं करते, जिन्होंने उन्हें जन्म दिया और पाल-पोस कर किसी लायक बनाया। मलेशिया के तमान सुंगई कोब शहर में एक ऐसी ही घटना सामने आई है, जिसमें एक लड़की ने अपनी 80 साल की मां को एक कपड़े से भरा एक बैग देकर परचून की एक दुकान पर इंतजार करने को कहा और कार वॉश करवाने का बहाना बना कर भाग गई। बाद में जब पुलिस ने उस लड़की से पूछताछ की तो उसने साफ कहा कि वह मां की देखभाल नहीं कर सकती। अब वह बूढ़ी महिला बहुत ही परेशानी की हालत में है। यह घटना 20 अक्टूबर की है। किसी ने इसके बारे में  फेसबुक पर पोस्ट डाल दी दो वायरल हो गई है। 

घंटों तक महिला ने किया बेटी का इंतजार
बूढ़ी महिला को साथ लेकर उसकी बेटी शॉपिंग करने निकली थी। काफी खरीददारी करने के बाद उसने मां से कहा कि वह कार वॉश करवा कर के आती है, तब तक वह उसका इंतजार करे। महिला पनताई प्राई नाम की जगह से आई थी, जो उस मार्केट से 29 किलोमीटर दूर है। वह महिला घंटों ग्रॉसरी शॉप के सामने बैठी रही, पर उसकी बेटी नहीं आई।

अकेली बैठी देख लोगों ने की पूछताछ

महिला को काफी देर से अकेली बैठी और परेशान देख लोगों ने उससे पूछताछ करना शुरू कर दिया। उस महिला ने कहा कि वह अपनी बेटी का इंतजार कर रही है जो कार वॉश करवाने गई है। उसने बताया कि उसकी बेटी पेनांग में रहती है। लोगों ने जब गली के अपोजिट साइड स्थित कार वॉश सेंटर पर जाकर देखा तो वहां उसकी बेटी नहीं थी। बेटी का कहीं कोई पता नहीं चला। इसके बाद लोगों ने पुलिस से संपर्क किया। उस महिला को वेलफेयर डिपार्टमेंट से थोड़े पैसे मिलते हैं, जिससे उसका गुजारा चलता है। लेकिन उसका आइडेंटिटी कार्ड उसके बच्चों के पास ही रहता है।

पुलिस ने किया बेटी से संपर्क

जब महिला को पुलिस स्टेशन ले जाया गया तो पुलिस ने उसकी बेटी से फोन पर संपर्क करने की कोशिश की। जब पुलिस अधिकारियों की उस महिला की बेटी से बातचीत हुई तो उसने साफ कहा कि वह अपनी मां की देखभाल नहीं कर सकती और अपने घर आ गई है। इसके बाद पुलिस ने वेलफेयर डिपार्टमेंट से संपर्क किया। वेलफेयर डिपार्टमेंट के लोग उस बूढ़ी और लाचार महिला को आगे की कार्रवाई के लिए अपने साथ ले गए।