अपनी पत्नी का फोन नंबर दोस्त को देकर चाहता था हो जाए दोस्ती, लेकिन जो हुआ...

अपने ससुराल पक्ष के लोगों को फंसाने के लिए महिला सिपाही ने ऐसा कदम उठाया, जिसके बारे में जानकर आप हैरान हो सकते हैं। हालांकि महिला सिपाही ने जिस साजिश को रचा था, उसका खुलासा जिले की पुलिस ने कर दिया। पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर मामला दर्ज कर लिया है। बीते गुरुवार को पुलिस ने इस सनसनीखेज मामले का खुलासा किया।

खुद को मरवाई गोली
दरअसल, महिला सिपाही ने ससुरालियों को फंसाने के लिए स्कूटी समेत, दो लाख रुपये की लूट और खुद पर जानलेवा हमले का ड्रामा रचा था। महिला सिपाही ने अपने प्रेमी से ही खुद गोली चलवाई थी। बीते गुरुवार को पुलिस ने आरोपी महिला सिपाही व उसके प्रेमी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया, साथ ही उनकी निशानदेही पर जली हुई स्कूटी, तमंचा और कारतूस बरामद कर लिया।

सर्विलांस के जरिए हुआ खुलासा
सीटी सीओ ओमपाल सिंह ने बताया कि 16 सितंबर को नैथला गांव के पास महिला कांस्टेबल रेणु पत्नी अनुज निवासी लुहारी घायल अवस्था में मिली थी। इस दौरान उसके हाथ में गोली भी लगी हुई थी। महिला सिपाही ने अज्ञात दो युवकों पर गोली मारकर स्कूटी व दो लाख रुपये लूटने का आरोप लगाया था। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच की प्रक्रिया शुरू कर दी। इस दौरान पुलिस को सर्विलांस से काफी मदद मिली। महिला सिपाही ने ससुराल वालों को फंसाने के लिए खुद ही साजिश रची थी। पुलिस ने गुरुवार को महिला सिपाही रेणु, उसके प्रेमी मनीष उर्फ मोनू और विकास को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी बोला महिला सिपाही के पति ने दिया था नंबर
आरोपी मनीष उर्फ मोनू ने बताया रेणू के पति अनुज ने ही पत्नी का मोबाइल नंबर दिया था। वह उससे पीछा छुड़ाना चाहता था। अनुज ने मोबाइल नंबर देकर कहा था कि उसकी पत्नी से बात कर रिकॉर्डिंग कर लेना। इसके आधार पर वह अपनी पत्नी से तलाक ले लेगा। 16 सितंबर को महिला सिपाही ने उसे नैथुला बुलाया था। उसने पहले जाने से मना कर दिया था। महिला सिपाही ने उसे धमकी दी थी कि अगर नहीं आया तो वह सुसाइड नोट लिखकर आत्महत्या कर लेगी। उसकी मौत का जिम्मेदार मनीष होगा। इससे वह घबरा गया और दोस्त के साथ उसके पास पहुंचा। महिला सिपाही ने कहा-उत्पीड़न से परेशान थी।

शामली जिले के ताना गांव की रहने वाली रेणू की शादी छह साल पहले लुहारी गांव निवासी अनुज के साथ हुई ती। अब उसकी एक बेटी भी है। पति-पत्नी यूपी पुलिस में कांस्टेबल पद पर तैनात है और दोनों की ड्यूटी गाजियाबाद जिले में चल रही थी। घरेलू कलह के चलते रेणू का झगड़ा चल रहा था। 15 सितंबर को बड़ौत में दोनों पक्षों के बीच पंचायत भी हुई थी। इसमें महिला सिपाही जाने ससुराल जाने के लिए राजी भी हो गई थी।