रात में कुछ लड़कों ने घर में घुस किया ये काम, पत्नी ने बताया सारा खेल...

मुजफ्फरपुर, जेएनएन। सदर थाना क्षेत्र के शेरपुर इलाके में दबंगों ने जमीन की मापी नहीं करने से नाराज होकर पड़ोसी अमीन के घर पर हमला बोल दिया। लोहे के रॉड व चाकू से वार कर परिवार में मौजूद मां-पत्नी समेत आधा दर्जन लोगों को घायल कर दिया। दबंगों ने बच्चे को भी नहीं छोड़ा। उसे जमीन पर पटक दिया। इतने से मन नहीं भरा तो पालतू कुत्ते से इन लोगों को कटवा दिया। शोरगुल पर स्थानीय लोगों की भीड़ जुटी तो सभी आरोपित धमकी देते हुए भागे।

गिरफ्तारी के भय से घर छोड़कर फरार 
सूचना पर सदर थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच की। घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। मामले में रिटायर्ड कर्मी शशिभूषण तिवारी के पुत्र पंकज कुमार ने सदर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। जिसमें लोकेश त्रिवेदी, उसके भाई रितेश त्रिवेदी समेत अन्य को आरोपित किया गया है। कांड अंकित कर पुलिस आरोपितों की तलाश तेज कर दी है। सभी आरोपित घर से फरार हैं। 

जबरन घर में घुस गंभीर रूप से किया घायल 
बताया गया कि पंकज व उनके परिवार के सदस्य बुधवार की रात घर पर थे। लोकेश व अन्य आरोपित लोहे के रॉड समेत अन्य सामान से लैस होकर आए और जबरन घर में घुसकर मारपीट करने लगे। पंकज के अलावा उनके पिता, मां व पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गए है। परिजनों के मुताबिक, पंकज अमीन का काम करता है। कई दिनों से लोकेश जमीन की मापी करने के लिए पंकज को बोल रहा था। लेकिन समय के अभाव में जमीन मापी नहीं करने से बौखलाए आरोपितों ने उनके परिवार पर हमला कर दिया। 

कैश लूट कांड का आरोपित है लोकेश
पुलिस जांच में पता चला है कि आरोपित लोकेश त्रिवेदी वैशाली के एकारा रेलवे गुमटी के समीप हुए कैश लूट कांड का आरोपित रहा है। करीब आठ साल पूर्व वैशाली के एकारा रेलवे गुमटी के समीप गोलीबारी कर कैश वैन से लूट हुई थी। इसके अलावा कई कुख्यात अपराधियों से भी लोकेश के साठगांठ होने की बात सामने आई है। इन बातों की जानकारी मिलने के बाद सदर पुलिस वैशाली से संपर्क कर उसके पूर्व के आपराधिक रिकॉर्ड को खंगाल रही है।