पति को ढूंढने के लिए महिला खा रही दर-दर की ठोकरें, जानिए ऐसा क्या हुआ..

मंडी जिला के सुंदरनगर में एक बिहार की महिला अपनी 2 वर्षीय बेटी संग दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हो गई है। अपने पति के पास बिहार के जिला समस्तीपुर के गांव बिशनपुर निवासी रीना सुंदरनगर तो आ गई है, लेकिन अपने पति से संपर्क नहीं होने के कारण पिछले 5 दिनों से परेशान है। पिछले 5 दिनों से सुंदरनगर में अपने पति की तलाश व इंतजार में बैठी है। लेकिन अभी तक महिला के पति का कोई भी सुराग हाथ नहीं लग पाया है।
अपनी आपबीती सुनाते हुए रीना पत्नी संतोष दास निवासी गांव बिशनपुर जिला समस्तीपुर बिहार ने कहा कि 5 दिन पहले वह पति के कहने पर सुंदरनगर पहुंची। लेकिन रास्ते में उन्होंने ट्रेन में अपना मोबाइल फोन खो दिया। वहीं जब रीना अपने 2 वर्षीय बेटी को लेकर सुंदरनगर पहुंची तो महिला को उसका पति बस स्टैंड पर नहीं मिला। उसने बताया कि उसका पति सुंदरनगर में कहीं लेबर का कार्य करते हैं। पीड़िता महिला रीना अपने पति की तलाश में पिछले 5 दिन से सुंदरनगर में बस स्टैंड के आसपास के क्षेत्रों में दर-दर ठोकरें खा रही है।
रीना ने कहा कि सुंदरनगर पहुंचने पर उसे 2-3 बस स्टैंड पर शौचालय कर्मी के परिवार और अब साथ लगते झुग्गी-झोपड़ी वालों ने अपनी झोपड़ी में शरण दी है। उन्होंने कहा कि अपने पति को ढूंढने की सूचना सुंदरनगर पुलिस को भी दे दी गई है। महिला के अनुसार वह अपने पति के कहने पर सुंदरनगर आई है, लेकिन ठेकेदार,पति और उसके परिवार के फोन नंबर उसके पास नहीं है। इसकी वजह से उसे पति को ढूंढने में भी मुश्किल आ रही है। वहीं रीना व उसे आसरा दे रहे झुग्गी-झोपड़ी वाले चंदन और राजेश के परिवार ने स्थानीय प्रशासन और पुलिस विभाग से आग्रह किया है कि उसके पति को जल्द ढूंढा जाए।