मेरी बिटिया तो देवी बनकर कन्या खाने गई थी, फिर क्यूं माता रानी ने उसकी नही बचाई जान

जहां पर नवरात्र में सभी भक्त देवी की अराधना करने के साथ ही कन्या भोज करके जीवन में सुख समृद्दि की कामना कर रहे है,,वही एक कन्या भोज के दौरान हुए एक हादसे से सभी के पैरों तले जमीन खिसका दी, कन्या भोज के दौरान हुए हादसे में एक कन्या की जलकर मौत हो गयी. वाकई ये हादसा बेहद की दुख देने वाला है. जिसनें सभी को झकझोर कर रख दिया. हादसे से के बाद मासूम की मां की चीखों ने सभी के आंखों में आंसू ला दिये. बार बार मासूम की मां के मुंह से यही आवाज निकल रही थी कि मेरी बिटिया तो देवी बनकर कन्या खाने गई थी, फिर माता रानी ने क्यूं नही बचाई उसकी जान.
मामला उन्नाव जनपद के माखी थाना क्षेत्र से जुड़ा हुआ है. जहां पर किराना की दुकान में रखा पेट्रोल एक कन्या  के लिए काल बन गया. हादसे में तीन लोग बुरी तरह से झुलस गये,  माखी थाना क्षेत्र के निस्पंसरी गांव में एक किराना व्यापारी ने नवमी पर  अपने घर में  कन्या भोज का आयोजन किया था. किराना की दुकान में पेट्रोल-डीजल बेचा जा रहा था.
हवन-पूजन के दौरान वहां रखे पेट्रोल ने आग पकड़ ली. किराना दुकान में आयोजित कन्या भोज कार्यक्रम में शामिल होने आई कन्याओ में अफरा तफरी मच गयी. हवन पूजन के दौरान वहां रखे पेट्रोल ने आग पकड़ ली और देखते देखते और  भयावह हो गई. कन्या खाने के लिए गयी सभी कन्याएं तो बाहर निकल आयी. लेकिन एक सात साल की कन्या आग की लपटों में घिर गयी. जिसमें जलकर उसकी मौके पर ही मौत हो गयी.