पति को पिलाई, फिर चारपाई से बांध किया ऐसा काम, बेटी ने बताई पूरी सच्चाई

हरदोई में मल्लावां कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सुल्तानपुर मजरा बरौना में मंगलवार रात पत्नी ने ईंट से सिर कूंचकर पति को मौत के घाट उतार दिया। शव घर के बाहर डाल दिया। पड़ोस में रहने वाले मृतक के छोटे भाई ने शव देखा तो यूपी 100 पर सूचना दी। हत्यारोपी की बड़ी बेटी ने पुलिस को पूरी सच्चाई बताई। आरोपी महिला के पैरों में खून के छींटे देख पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।
घटना के पीछे पत्नी के आएदिन मायके में बने रहने को लेकर विवाद की बात सामने आई है। मृतक के भाई की तहरीर पर आरोपी के विरुद्ध हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर उसे जेल भेज दिया गया है। सुल्तानपुर निवासी आशिक हुसैन (36) पुत्र शौकत अली किसान था। 15 साल पहले उसकी शादी उन्नाव जनपद के बांगरमऊ कोतवाली क्षेत्र के ग्राम जोगीकोट निवासी नूरी (34) के साथ हुई थी।
शादी के बाद से ही नूरी ज्यादातर मायके में ही रहती थी। उसके तीन बच्चे पुत्री मुस्कान (14), गूंगी बिटिया (10) और पुत्र अल्तमश (8) हैं। मोहर्रम से तीन दिन पहले पति की जिद पर नूरी ससुराल आ गई थी। तब से मायके में बने रहने को लेकर दोनों में विवाद होता रहता था। मंगलवार रात नूरी ने पति को खाने के साथ नशीली दवा दे दी।
उसके सोते ही चारपाई पर बांधकर ईंट से उसका सिर कूंच दिया। आशिक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। रात तीन बजे नूरी पति आशिक का शव घसीटकर घर के बाहर ले गई। आहट पर पड़ोस में ही रहने वाला आशिक का छोटा भाई राहत हुसैन जाग गया। भाई का शव देखकर उसके होश उड़ गए। उसने पुलिस को सूचना दी।
कोतवाल शिवशंकर सिंह मौके पर पहुंचे तो घटना की चश्मदीद मृतक की बड़ी बेटी ने सारा राज खोल दिया। पुलिस ने आरोपी नूरी को गिरफ्तार कर लिया। बुधवार को जिला मुख्यालय पर प्रेसवार्ता के दौरान एएसपी पूर्वी कुंवर ज्ञानंजय सिंह ने बताया कि मौके से चारपाई की कटी निवाड़, रस्सी का टुकड़ा और खून लगी ईंट बरामद हुई है।