बेटी ने लिखा... पापा जहां प्रेमी को गाड़ा, वहीं मुझे भी गाड़ देना, और फिर जानें क्या हुआ...

पापा मुझे तो जाना ही था। वैसे भी मैंने तुम्हारी बहुत बेइज्जती करा दी। बस मेरी एक ही ख्वाहिश है कि जहां सरताज को दफनाया है, वहीं पर मुझे भी दफना दें। 17 वर्षीय किशोरी द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट ने परिवार के साथ गांव के लोगों को भी हैरान कर दिया। यह किशोरी अपनी बहन के देवर से निकाह करना चाहती थी। लेकिन परिजन सहमत नहीं थे। 15 दिन पहले जब प्रेमी की मौत हुई तो रविवार रात किशोरी ने भी फांसी लगाकर जान दे दी।
पुलिस के अनुसार फलावदा थाना क्षेत्र का पिलौना निवासी मोहम्मद खलील गुड़ व्यापारी है। खलील की बड़ी बेटी मुस्कान की शादी दो साल पहले लिसाड़ीगेट के श्यामनगर निवासी अरशद से हुई थी। इस समय अरशद का परिवार सनौता गांव के पास रह रहा है। खलील की छोटी बेटी मिस्कान (17) का मुस्कान के देवर सरताज से प्रेम प्रसंग चल रहा था। पुलिस का कहना है कि किशोरी सरताज से शादी करना चाहती थी। इसका परिजनों ने विरोध किया। 15 दिन पहले सरताज की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। परिजनों ने बीमारी से मौत होना बताकर सरताज को सनौता गांव के कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया था। 
वहीं, पुलिस ने बताया था कि सरताज ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या की थी। किशोरी मिस्कान ने सोमवार तड़के कमरे में चुनरी से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। उस समय परिजन दूसरे कमरे में सोए हुए थे। सुबह छह बजे परिजन उठे तो किशोरी को शव फंदे पर लटका देखा। आनन फानन में उसे डॉक्टर के पास ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने किशोरी को मृत घोषित कर दिया। किशोरी पांचवीं पास थी, जिसका अपनी बहन के देवर से प्रेम प्रसंग था। युवक की भी कुछ दिन पहले मौत हो गई थी, जिसकी पुलिस को जानकारी नहीं दी गई थी। सोमवार सुबह किशोरी ने अपने ही घर में आत्महत्या कर ली। एक सुसाइड नोट मिला है। पोस्टमार्टम कराकर कार्रवाई की जा रही है। - अविनाश पांडेय, एसपी देहात