ऐसे प्यार के बारे में, जिसको पढ़ने के बाद आप भी हैरान हो जाएंगे...

गयादीन रोज की तरह अपने घर जा रहा था। अचानक नाले के पास उसको बहुत ही बदबू आने लगी। उसने इधर उधर देखा किन्तु उसे कुछ दिखाई नहीं दिया। वह काफी देर तक सोंचता रहा और इसके बाद उसने पुलिस को फोन कर दिया। पुलिस ने नाला की तलाशी ली तो वो हैरान रह गए। नाले में एक लड़की का शव पड़ा हुआ था। नाला बहुत गंदा था इसी लिए लाश भी काफी खराब हो गई थी। लाश का चेहरा भी बिगाड़ दिया गया था। किसकी थी वो लाश और किसने इतनी बेहरमी से उस लड़की का खून किया था। आइये जानते हैं पूरी घटना के बारे में।
झारखंड में रांची रोड पर स्थित रामपुर में गिरिश अपनी पत्नी विमला देवी और बेटी शिवानी के साथ रहता था। 21 जून 2019 को शिवानी अपने स्कूल के लिए निकली किन्तु देर शाम तक घर नहीं आयी। शिवानी के घर न आने उसकी माँ बहुत परेशान हो गई। उसने अपने पति गिरिश को सूचना दी तो वो भी पागलों की तरह भागता हुआ घर आया। उन दोनों ने शिवानी को बहुत खोजा किन्तु उसका कोई पता नहीं चला। विमला ने शिवानी की एक सहेली के पास फोन किया तो उसने बताया कि शिवानी आज स्कूल आयी ही नहीं थी। इतना सुनकर विमला और भी परेशान हो गई। हारकर अगले दिन गिरिश और विमला ने थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी।
मामला एक जवान लड़की का था इस लिए पुलिस भी बहुत जल्दी हरकत में आ गई और शिवानी की बहुत तेजी से खोज शुरू हो गई। शाम को गयादीन ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शिनाख्त के लिए विमला और गिरिश को बुलाया। लड़की का चेहरा पहचानना मुश्किल था किन्तु कपड़ों से विमला ने शिवानी की पहचान कर ली। विमला और गिरिश का रो-रो कर बहुत ही बुरा हाल था। पुलिस ने जब किसी पर शक के बारे में पूंछा तो विमला ने एक बड़े गिट्टी व्यापारी दिनेश के बारे में बताया। उसने कहा दिनेश शिवानी को बुरी नजर से देखता था और इसके कारण शिवानी और दिनेश की कई बार झड़प भी हो चुकी थी।
मामला काफी तूल पकड़ चुका था। इस लिए पुलिस एसएसपी सहित पूरी टीम ने दिनेश के घर को घेर लिया कितु दिनेश गायब था। इस लिए पुलिस ने दिनेश के पिता मोहनलाल को अपनी हिरासत में ले लिया। इसके बाद काफी खोज करने के बाद भी दिनेश का पता नहीं चला। पुलिस ने दिनेश सहित सभी के फोन सर्विलांस पर लगा दिए। महीनों गुजर गए किन्तु दिनेश का पता नहीं चला। 1 अक्टूबर 2019 को दिनेश ने अपने एक दोस्त विनोद को फोन किया। हालांकि विनोद का भी फोन भी सर्विसलांस पर लगा था। इस लिए पुलिस ने तुरंत दिनेश की लोकेशन पता की। वह मुम्बई में था। पुलिस ने एक भी पल न गंवाते हुए तुरंत जाकर दिरेश को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने जो खुलासा किया उससे शातिर अपराधी के भी होश उड़ जाते।
दिनेश अक्सर शिवानी को परेशान करता था किन्तु पता नहीं कब ये नफ़रत प्यार में बदल गई। शिवानी भी दिनेश से बहुत प्यार करने लगी थी। वो दोनों एक दूसरे के बिना जी नहीं पा रहे थे। शिवानी को ये भी पता था कि उसके पिता किसी हालत में उसकी शादी दिनेश से नहीं करेंगे। इस लिए उसने एक बहुत ही खतरनाक कदम उठाया। शिवानी दिमागी रूप से बहुत ही शातिर थी इस लिए पूरा प्लान उसी ने बनाया था। शिवानी ने दिनेश को फोन कर रामपुर नाले के पास बुलाया। प्लान के मुताबिक़ दिनेश पहले से ही शिवानी की कद काठी की एक लाश मुर्दाघर से चुरा लाया था। शिवानी ने अपने सारे गहने और कपड़े उसी मरी हुई लड़की को पहना दिए। इसके बाद दिनेश ने अपने ट्रक के नीचे रखकर उस लड़की का चेहरा बिगाड़ दिया। इसके बाद दोनों मुंबई भाग गए। शिवानी की माँ पुलिस पर विश्वास नहीं कर पा रही थी। उसने शिवानी से जाकर पूंछा तो शिवानी कोई जवाब नहीं दे पायी। आज गिरिश की इज्जत समाज में तार-तार हो गई थी।