बहन ने दरवाजा खोला तो कमरे के अंदर भाई को देख लिया कुछ ऐसा की...और फिर जो हुआ

मेरठ के कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र की सदनपुरी बस्ती निवासी 20 वर्षीय मोनू पुत्र जयप्रकाश मजदूरी करता था। घर पर मोनू के साथ उसकी बहन नैना भी रहती है। मकान के बराबर में ही मोनू के परिवार की एक दादी का भी मकान है। नैना ने पुलिस को बताया कि मंगलवार रात मोनू को उसका दोस्त कोतवाली के जत्ती बाड़ा निवासी गौरव उर्फ काकू और दो अन्य युवक घर से बुलाकर ले गए थे। 
इस बीच नैना मकान के दरवाजे का बाहर से कुंडा बंद कर अपनी दादी के घर सोने चली गई। बुधवार सुबह जब नैना अपने घर गई और दरवाजा खोला तो अंदर मोनू का शव पड़ा था। शोर-शराबे के बीच दादी के परिजन और पड़ोसी जमा हो गए। कंट्रोल रूम की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल की। नैना ने गौरव और दो अन्य युवकों पर मोनू की पीटकर हत्या कर शव फेंकने का आरोप लगाया है।

शव को सड़क पर घसीटने की आशंका
मृतक के दोनों हाथ और दोनों पैर की अंगुलियां नाखून घिसे हुए थे, जिनको देखकर प्रतीत हो रहा था कि सड़क पर मोनू को सड़क पर घसीटा गया है। नैना ने प्रकरण की तहरीर पुलिस को दी है। जिसके बाद पुलिस ने दबिश देकर गौरव को उठा लिया। कंकरखेड़ा थाने में आरोपित गौरव से पुलिस पूछताछ कर रही है।