दोस्त की दो बहनों को प्रेमजाल में बहकाया, और फिर कराया यह काम...

खरगोन जिले में दोस्त की दो नाबालिग बहनों का अपहरण कर बलात्कार करने और उनसे जबरन मजदूरी कराने वाले आरोपियों को पुलिस ने गुजरात से पकड़ लिया है। आरोपियों को पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर ट्रेस किया। इसके बाद वहां जाकर आरोपियों के चंगुल से नाबालिगों को मुक्त कराया गया। आरोपियों को खरगोन लाया गया है।
टीआई ललितसिंह डागुर ने बताया 27 अगस्त को दो महिलाओं ने थाने पर आकर दो नाबालिगों के अचानक कहीं चले जाने की सूचना दी। पुलिस ने इसके आधार पर अपहरण का केस दर्ज किया। दोनों नाबालिगों का एक साथ यूं कहीं चले जाना पुलिस के लिए भी चुनौती बन गया। एसपी सुनील कुमार पांडे्य ने मामले की तह तक जाने के लिए एक टीम गठित की। पुलिस पड़ताल में पता चला कि नाबालिगों के भाई के दो दोस्त रहीमपुरा निवासी राजेश पिता बुधिया (21) व अक्कू उर्फ सुनील पिता फूलसिंह बारेला (20) भी गायब हैं। पुलिस को शक हुआ और दोनों लड़कों के मोबाइल नंबर लेकर उन्हें ट्रेस किया गया।
पुलिस को नाबालिगों ने बताया वह आपस में ममेरी बहने हैं। राजेश और अक्कू से उनके भाई की दोस्ती थी। इस नाते वह अक्सर घर आते थे। करीब एक वर्ष पहले राजेश ने एक नाबालिग को प्रेमजाल में फांसा, जबकि वह पहले से शादीशुदा था। उसी ने अक्कू और दूसरी नाबालिग को भी मिलाया। कुछ दिनों बाद दोनों युवक नाबालिगों को शादी का झांसा देकर अपने साथ गुजरात ले गए। यहां कई बार नाबालिगों के साथ बलात्कार किया। यहां दोनों से मजदूरी भी कराई गई।