प्रेम में दामाद ने की ससुर और सास के साथ ऐसा गलत काम, फिर जो हुआ...

छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के ग्राम भोथापारा में बीती रात दामाद ने ससुर की चाकू मारकर हत्या कर दी। बीच-बचाव करने का प्रयास कर रही सास पर भी जानलेवा हमला कर दिया, जिससे महिला घायल हो गई। शोर मचाने के बाद ग्रामीणों ने आरोपी दामाद को पकड़ लिया। पुलिस मामले की जांच में टूट गई है।
दरअसल, घटना मंगलवार देर रात की है। केरेगांव पुलिस ने बताया कि कांकेर जिले के ग्राम टिकरापारा हलबा का रहने वाला शिवराम मंडावी (23 ) का ससुराल भोथापारा माडमसिल्ली है। तीन साल पहले उसका ब्याह लखनलाल गावड़े (45) की बेटी के साथ हुई थी। करीब एक साल बाद शिवरात की एक बेटी हुई। फिलहाल बच्ची दो साल की है। पति-पत्नी में घरेलू कलह के चलते शिवराम की पत्नी वापस मायके आ गई। इस बीच अपनी पत्नी को वापस ले जाने के लिए शिवराम बार-बार ससुराल आकर उसे मनाने की कोशिश करता रहा, लेकिन ससुर लखनलाल और सास नीराबाई ने अपनी बेटी को वापस ससुराल भेजने की बजाय उसका ग्राम बनबाती में दूसरा ब्याह कर भेज दिया।

इधर, अपनी 2 साल की बेटी को घर ले जाने के लिए बार-बार शिवराम अपने सास-ससुर के पास आता था। बीते शुक्रवार को भी वह ससुराल आया था। काफी देर तक अपनी बच्ची को ले जाने के लिए सास-ससुर को मनाता रहा, लेकिन उन्होंने साफ इनकार कर दिया। इससे मायूस होकर शिवराम वापस घर चला आया। इस बीच वह प्रतिशोध की भावना में जलता रहा और मंगलवार की रात फिर से वह ससुराल भोथापारा आया 
बाड़ी की दीवार कूद कर देर रात में घर के अंदर प्रवेश किया और अपने साथ लाए चाकू से ससुर लखनलाल पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। सीने में चार बार वार करने के बाद पेट में भी चाकू घोंप दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। उसकी चीख-पुकार सुनकर पास में सोई उसकी सास नीरा बाई भी जाग गई। बीच बचाव करने के प्रयास में शिवराम ने उसे भी चाकू मारकर घायल कर दिया, तब तक महिला की चीख पुकार सुनकर उसकी जेठानी समेत आसपास के लोग दौड़े चले आए और आरोपी को मौके पर ही पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिए। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।