लड़की की एक इच्छा ने पूरे परिवार को खत्म किया, चाचा ने कहा-भतीजी की एक जिद ने वंश को ही खत्म कर दिया

वैसे तो मां-बाप अपने बच्चों को खुश करने के लिए उनकी हर बात को पूरा करते हैं। लेकिन कभी-कभी उन्हीं बच्चों की एक जिद पूरे परिवार पर भारी पड़ जाती है। ऐसा ही एक दिल दहला देने वाला मामला हरियाणा में सामने आया है। जहां बेटी की एक जिद पूरी होने के 1 माह बाद पिता ने पत्नी और बेटे को साथ लेकर आत्महत्या कर ली।

कई दिनों से डिस्टर्ब चल रहा था वो
दरअसल, ये खौफनाक मामला फतेहाबाद के रतिया इलाके में रविवार शाम को सामने आया है। जहां निरंजन दास नाम के युवक अपनी पत्नी नीलम और 11 साल के बेटे अर्श को कार में लेकर निकला और नहर में जाकर मौत की छलांग लगा दी। वह कई दिनों से वह इस बात से आहत था कि उसकी बेटी ने मना करने के बाद भी अपनी पसंद के लड़के से लव मैरिज क्यों कर ली। इसलिए उसने पूरे परिवार समेत नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली।

कार के अंदर थीं तीनों की लाशें...

सोमबार के दिन जब वह घर में नहीं दिखे तो निरंजन के भाई नरेश पुलिस थाने में जाकर गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई। फिर किसी ने पुलिस को सूचना दी की रत्नगढ़ की नहर में एक कार डूबी हुई है। इसके बाद पुलिस टीम ने वहां जाकर देखा तो उसके अंदर निरंजन का पूरा परिवार था।

केन से निकली गई कार और लाशें
पुलिस ने गोताखोर की मदद से  काफी जदोजहद के बाद भाखड़ा नहर से कार को क्रेन की सहायता से बाहर निकाल लिया गया। हालांकि जब तक गाड़ी को बाहर निकाला गया गाड़ी में मौजूद तीनों लोगों की मौत हो चुकी थी। आखिर में पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शवों को परिजनों को सौंप दिया।

पड़ोस के लड़के से प्यार करने लगी थी बेटी
निरंजन के भाई नरेश ने पुलस को दी शिकायत में बताया कि उसकी भतीजी रजनी ने एक महीने पहले पड़ोस में रहने वाले युवक ओम उर्फ भोलू से शादी कर ली। मेरे भैया ने उसको कई बार कहा तू उसको भूल जा, लेकिन उसने उनकी एक नहीं सुनी और आज पूरा परिवार खत्म हो गया।  भतीजी का पति और उसके ससुराल वाले मेरे भाई को आए दिन ताने मारते रहते थे। पुलिस ने रजनी उसके पति भोलू और ससुरालवालों के खिलाफ परिवार को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मुकदमा दर्ज कर लिया है।