पत्नी को हो गया दो लड़कों से प्रेम और उसके बाद जो हुआ...जानिए

शिवपुरी शहर के बीच मानस भवन में शुक्रवार को हुए नृशंस हत्याकांड से पर्दा हट गया है। मृतक मुकेश जाटव की हत्या उसी की पत्नी ने अपने दो प्रेमियों के साथ मिलकर की। इनमें से एक हम्माल है जबकि दूसरा वेटर। इन दोनों ने एक साथ 40 बार सिर पर पत्थरों से कर मुकेश को मौत के घाट उतार दिया था। शनिवार को एसपी राजेश सिंह चंदेल ने बताया कि शहर के बीच हत्याकांड से पुलिस ने मामले को संवेदनशीलता से लिया। कोतवाली टीआई बादामसिंह यादव और एसडीओपी शिवसिंह भदौरिया की टीम सक्रिय हुई और रात को ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। 
इस मामले में पुलिस को घटना स्थल से ही सुराग लगना शुरू हो गए थे। जिस दौरान पुलिस स्पॉट पर पहुंची और पड़ताल कर रही थी उसी दौरान घटना स्थल से चंद फासले पर किराए से रह रही मृतक की पत्नी चंपा बार बार देखने आ रही थी। वह आती और वापस लौट जाती। फिर छत पर चढ़कर देखती। पुलिस को यह सब अजीब लग ही रहा था कि तभी एक बालक टीआई बादामसिंह के पास आया और बताया कि जो फोटो मृतक मुकेश की जेब से मिला है वह चंपा आंटी का है। चंपा आंटी के कई प्रेमी हैं और वह बार बार आकर तांक झांक कर रही हैं। 
इसके साथ ही महिला पुलिस ने सबसे पहले चंपा को कब्जे में लिया। चंपा ने पुलिस को बताया कि एक दिन पहले उसका पति आया था फिर घर नहीं पहुंचा। लेकिन जब पुलिस ने अपने अंदाज में पूछताछ की तो चंपा टूट गई और उसने आरोपी कल्लू उर्फ मुबारिक 21 पुत्र जहूर खान पठान, निवासी संजय कालोनी और छोटू उर्फ इदरीस 19 पुत्र पूरन रजक निवासी संजय कालोनी के साथ हत्याकांड को अंजाम देना स्वीकारा। यहां से पुलिस ने तेजी दिखाते हुए हम्माल कल्लू पठान और वेटर छोटू रजक को उठाया तो उन्होंने सारी कहानी बयां कर दी।