जीजा ने देख लिया प्रेमी के साथ घूमते हुए और फिर जो हुआ, जानिए...

गाजीपुर में जीजा ने ही बीटीसी छात्रा अलीशा को उतारा था मौत के घाट, ब्वाय फ्रेंड के साथ घूमना नहीं था मंजूर। बीटीसी की छात्रा अलीशा की हत्या उसके ही सगे जीजा ने की थी। अलीशा पर जीजा इमाम अहमद का दिल आ गया था। जीजा के साथ उसकी नजदीकियां भी बढ़ीं। इसी बीच एक युवक से भी नजदीकियां बढ़ गईं। अपने और अलीशा के बीच किसी का आना जीजा को मंजूर नहीं था। युवक के साथ बातचीत, घूमना-फिरना इतना खटकने लगा कि दरगाह ले जाने के बहाने बुलाकर बेरहमी से जीजा ने अलीशा को मौत के घाट उतार दिया। इसी हफ्ते हुए घटना का बुधवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया। 
गिरफ्तार जीजा ने हत्या की पूरी हकीकत बयां की तो सुनने वालों का कलेजा कांप गया। एक नवंबर को सड़क के किनारे अलीशा का शव मिला था। पुलिस ने उसके मोबाइल फोन की कॉल डिटेल निकलवाई और विश्लेषण शुरू किया तो भांवरकोल के पखनपुरा निवासी उसके जीजा इमाम अहमद सिद्दीकी पर शक की सुई घूम गई। उसे गिरफ्तार कर पूछताछ हुई तो वह जल्द ही टूट गया। कहा कि अलीशा आठ बहनों और दो भाइयों में सबसे छोटी थी। अलीशा के परिवार की आर्थिक स्थित बहुत अच्छी नही थी तो वह समय-समय पर आर्थिक मदद करता था। सास को कैंसर था, इसके इलाज हेतु वह अक्सर वाराणसी जाती थी। ससुराल में अक्सर आने जाने से साली अलिशा से नजदीकियां बढ़ गईं। 

इसी बीच जीजा को पता चला कि अलीशा का अपने बीटीसी कालेज में एक क्लर्क के साथ नजदीकियां बढ़ गई थीं। जीजा ने मना किया लेकिन अलीशा नहीं मानी। अपने अलावा किसी से नजदीकियां जीजा को मंजूर नहीं थीं। जीजा ने अलिशा के सामने शादी का प्रस्ताव भी रख दिया लेकिन उसने साफ मना कर दिया। इससे जीजा की नाराजगी और बढ़ गई। जीजा ने अलीशा को मौत के घाट उतारने का प्लान बना लिया। अलीशा ने किछौछा शरीफ दरगाह में कोई मन्नत मांगी थी। वहां जाने की बात करती थी। एक नवंबर को जीजा ने फोन करके अलीशा को दरगाह चलने के लिए बुलाया। 

दोनों बाइक से दरगाह पहुंचे। वापस आने के दौरान सुनसान सड़क के किनारे पेशाब का बहाना बनाकर जीजा ने बाइक रोक दी। अलीशा दूसरी तरफ मुंह करके खड़ी हो गयी। इसी दौरान जीजा ने चापड़ से अलीशा पर ताबड़तोड़ कई वार कर दिया। अलीशा जमीन पर गिरकर तड़पने लगी तो खींचकर झाड़ी में ले गया। वहां भी तब तक वार किया जब तक उसकी मौत नहीं हो गई। उसकी पहचान न हो सके इसलिए चेहरे को भी बुरी तरह से काट डाला। अलीशा की हत्या के बाद रौजा होते हुए अपने गांव पखनपुरा आ गया। अलीशा का बैग और चप्पल रास्ते में फेंक दिया। बुधवार को जीजा की गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल चापड़, अलीशा का बैग, चप्पल आदि बरामद कर लिया है।