बीटेक छात्र दोस्त से बोला: रातभर पढ़ाई की है, 8 बजे उठा देना, और फिर जो गलत हुआ...

दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मुरथल में बीटेक अंतिम वर्ष के छात्र ने हॉस्टल के कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्र का गुरुवार को पेपर था लेकिन उसने पेपर से पहले ही फंदा लगा लिया। छात्र के पास से पुलिस को सुसाइड नोट भी मिला है। उसने सुसाइड नोट में किसी को अपनी मौत का जिम्मेदार नहीं माना है। छात्र बास्केटबाल का खिलाड़ी होने के साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रमों में काफी हिस्सा लेता था लेकिन उसकी कई पेपर में कंपार्टमेंट थी और उसका गुरुवार को कंपार्टमेंट का पेपर था। इसकी सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 
मूलरूप से हिसार फिलहाल गुरुग्राम के सेक्टर-52 निवासी अंकित नैन (21) मुरथल विवि में बीटेक अंतिम वर्ष का छात्र था। वह हॉस्टल कृष्णा राय के कमरा नंबर 180 में रहता था। उसने गुरुवार सुबह छह बजे ही अपने दोस्तों को कहा था कि वह सोने जा रहा है। उसने रातभर पढ़ाई की है। उसे साढ़े आठ बजे उठा देना, जब उसका साथी साढ़े आठ बजे उसे उठाने के लिए पहुंचा तो कमरा अंदर से बंद मिला। काफी देर कमरा खुलवाने  के बाद भी जब कमरा नहीं खोला तो उसने अन्य छात्रों को बुलाकर कुंडी तोड़ी तो अंदर जाकर देखा तो अंकित का शव फंदे से लटका हुआ मिला। मामले को लेकर विवि अधिकारियों को अवगत करवाया। 
छात्र को तुरंत निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिस पर पुलिस को सूचित किया गया। सूचना के बाद पहुंची मुरथल थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर सामान्य अस्पताल में भिजवाया और पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने युवक के पास से सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें उसने लिखा है कि उसकी मां और बहन बहुत अच्छी है। हालांकि वह अच्छा बेटा नहीं बन सका। छात्र बास्केटबाल में उत्कृष्ट खिलाड़ी था। वह यूनिवर्सिटी की टीम में खेलता था। परीक्षा में कंपार्टमेंट आने से कारण उसका गुरुवार को ही पेपर था लेकिन पेपर से पहले ही उसने फंदा लगा लिया।