गाँव की एक महिला के प्यार में जो हुआ, जानकर हैरान हो जाएंगे आप...

जींद के किला रोड पर एक महिला के घर बैठे युवक का अपहरण कर लिया गया। उसे लाठी और डंडे से पीटा। आरोपित युवक को गंभीर हालत में घर के बाहर फेंक गए। बाद में परिजन मोनू को नागरिक अस्पताल में लेकर आए, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने इस मामले में रामराये गेट निवासी कालू, विश्वकर्मा कॉलोनी निवासी फिरोज को नामजद करके अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है।
श्याम नगर निवासी जयवीर ने शहर थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसका 28 वर्षीय बेटा मोनू दिल्ली में गाड़ी चलाने का काम करता था। 23 नवंबर को मोनू दिल्ली चला गया था। 24 नवंबर को रामराये गेट निवासी कालू व उसकी मां रानी उनके घर पर आए। कालू ने कहा कि उसकी भाभी घर से गायब है और गायब करने में मोनू का हाथ है। अब मोनू जिस दिन भी उन्हें मिल जाएगा उस दिन उसका काम तमाम कर देंगे।

मोनू जानकार महिला के घर पहुंचा
स्वजनों ने फोन पर मोनू से बात की तो उसने कालू की भाभी के बारे में कोई भी जानकारी नहीं होने की बात कही। मोनू मंगलवार रात को जींद आया था और वह सीधे घर आने की बजाए अपनी जानकार महिला रानी के घर पर किला रोड पर चला गया। जब वह मकान में बैठा हुआ था इसी दौरान वहां पर कालू, फिरोज व अन्य लोग पहुंच गए और मोनू को पकड़ लिया। जब महिला रानी ने उसको बचाने का प्रयास किया तो आरोपितों ने उसे भी गोली मारने की धमकी दी। इसके बाद आरोपित जबरदस्ती मोनू को उठाकर ले गए। 

घर के बाहर फेंक गए
महिला रानी ने इसके बारे में मोनू के पिता जयबीर को बताया और उसके बाद तलाश शुरू की। करीब पौने घंटे बाद आरोपित कालू व फिरोज बाइक पर मोनू को लेकर आए और घर के बाहर फेंककर चले गए। जब परिजनों ने उसे संभाला तो उसकी सांसे चल रही थी, लेकिन अस्पताल तक पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।